Working Women Hostel Scheme 2021 | महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने के लिए

Working Women Hostel Scheme | Working Women Hostel yojana | Working Women Hostel Scheme in Hindi | about Working Women Hostel Scheme | Working Women Hostel Scheme online | Working Women Hostel Scheme portal

Working Women Hostel Scheme

नमस्कार आज हम आपको भारत में महिलाओ के लिए चलाई गयी एक नई योजना के बारे में विस्तार पूर्वक बताने जा रहे है। जैसा की आप सभी इस बात से भलीभांति अवगत है ,की बीते कुछ वर्षो से सरकार निरंतर महिलाओ के विकास हेतु प्रयासरत है। जिसके लिए सरकार अलग अलग प्रकार की योजना बना कर उन्हें लागु कर रही है।

महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार दोनों निरंतर प्रयास कर रही है। उन्ही प्रयासों में से एक योजना हैवर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम ‘। इस योजना के द्वारा सभी कामकाजी महिलाओ को सरकार की तरफ से रहने के हॉस्टल की सुविधा दी जाएगी। ‘वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम’ से जुडी सभी जानकारी जैसे ये योजना है क्या ? इसके क्या लाभ है ? कोण कोण इसके लाभ ले सकते है इत्यादि के बारे में इस आर्टिकल बताया गया है।

Aim of Working Women Hostel Scheme

‘वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम ‘ के द्वारा देश की सभी कामकाजी महिलाओ को सरकार की तरफ से रहने के हॉस्टल की सुविधा दी जाएगी। इस योजना के तहत महिलाओ को सुरक्षित आवास प्रदान करवाया जायेगा। इस योजना का मुख्य उदेश्ये महिलाओ को आवास व् सुरक्षा दोनों देना है। ताकि उनकी और उनके बच्चो की देखभाल की सुविधा एवं आवश्यकता की सभी सामग्री उन तक पहुंचे जा सके। ये योजना देश के सभी क्षेत्रों जैसे ग्रामीण ,शहरों एवं सेमि अर्बन क्षेत्रों इत्यादि में उपलब्द्ध है। जहा महिलाये सुरक्षित रहकर रोजगार कर सकती है।

Check This also —>>> Government loan scheme for women 2021 | Mahila Loan Scheme

Benefits of Working Women Hostel Scheme / ‘वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम ‘ के लाभ

इस योजना के अंतर्गत महिलाओ व् उनके बच्चो को श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है जिसे निचे दर्शाया गया है :-
इस योजना के तहत सभी कामकाजी महिलाये जो एकल , विवाहित , तलाकशुदा , विधवा है या जो किसी दूसरे शहर में जाकर नौकरी करती है व् अपने परिजनों से दूर है। इसके आलावा समाज की सभी वंचित वर्ग की लड़कियों या औरतो को वरीयता प्रदान की जाएगी। शारीरिक रूप से कमजोर महिलाओ के लिए इस योजना के तहत सीटों के लिए आरक्षण देने का भी प्रावधान है।
इस योजना के तहत वो महिलाये जो किसी नौकरी के लिए प्रशिक्षण ले रही हो पर बशर्ते आपका प्रशिक्षण की अवधि एक वर्ष से अधिक नहीं होना चाहिए। ये केवल तब ही संभव है जब कामकाजी महिलाये को सीटे मिलने के बाद बची सीटों में नौकरी के लिए प्रशिक्षण लेने वाली महिलाओ को दी जाति है परन्तु प्रशिक्षण लेने वाली महिलाओ की सीटों की संख्या 30 प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए।
इस योजना के तहत कामकाजी महिलाओ /माताएं के 18 वर्ष तक की बालिकाएं एवं 5 वर्ष तक के लड़को को वो अपने साथ हॉस्टल में रख सकती है इसके साथ ही वे डे-केयर जैसी सेवाओं का भी लाभ ले सकती है।

Working Women Hostel Scheme’s income limit ,rent and stay period or वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम ‘की इनकम लिमिट , रेंट एवं स्टे प्रियड

इस योजना के तहत कामकाजी महिलाओ को सुरक्षित आवास प्रदान किया जाता है। परन्तु इसके लिए ये आवशयक है की आवदेक की मासिक आय सकल आय से ज्यादा न हो।
महानगरों जैसे बड़े शहरों में आवेदक महिलाओ की प्रतिमाह 50000 /-समेकित एवं किसी और जगह पर 35000 /- प्रतिमाह मानसिक आय होना अनिवार्य है।

यदि किसी महिला का प्रमोशन हो जाता है और उनकी आय निर्धारित आय से अधिक बढ़ जाती है तो उन्हें आय बढ़ने के छह माह के भीतर हॉस्टल खाली  करना पड़ता है।

For more details regarding the working women hostel scheme