Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana: ग्रामीण बुनियादी ढांचे के विकास के लिए बढ़ता हुआ कदम,UP के गांव बनेंगे Smart City

Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana:- आज हम आपके पास फिर से एक नई खुशखबरी के साथ आये है। जैसा की आप सभी को पता है की उत्तर प्रदेश उन्नति और जनसख्या की दृष्टि से देखा जाए तो सबसे बड़ा राज्य है।UP सरकार ने ग्रामीण बुनयादी ढांचे के विकास के लिए Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojanaकी शुरुआत  की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 15 सितंबर 2022 को राज्य के विकास कार्यों में आम आदमी को प्रत्यक्ष भागीदार बनाने और सहभागी ग्रामीण अर्थव्यवस्था और बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना शुरू करने का ऐलान किया था। इस योजना के बारे में विस्तार से जानने के लिए दिए गए लेख को अंत तक पढ़े।

Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana 

आप को ता दे की। 10 नवंबर 2021 को राज्य मंत्रिमंडल द्वारा “Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana” शुरू करने के प्रस्ताव को संस्वीकृति दे दी गई है। Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana के जरिये नागरिक अपने क्षेत्र में बुनयादी ढांचे के विकास के लिए सरकार की लगत 40% वहन कर सकते हैं।Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana के लिए प्रदेश सरकार एक रुपया पेश करने का भी फैसला लिया है।

100 करोड़ का कोष। IE की एक रिपोर्ट के अनुसार, पूर्वी पाकिस्तान से 1970 के दशक में विस्थापित हुए बंगाली हिंदुओं के लिए एक पुनर्वास योजना शुरू करने के सुझाव को सरकार ने भी संस्वीकृतिदे दी है। सुझाव के अनुसार 63 ऐसे हिंदू बंगाली परिवार हैं, जिनका कानपुर देहात जिले में लगभग 121.41 Hectare भूमि पर पुनर्वास किया जाएगा।

विवरण के मुताबित Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana के अंतर्गत ऐसे परिवारों को 2 एकड़ भूमि कृषि कार्य के लिए तथा 200 वर्ग मीटर क्षेत्र में रहने के लिए 1 रुपये के पट्टे पर 30 वर्ष के समय के लिए दी जाएगी, जो कि एक और 30 साल के समय के लिए दो बार बढ़ाया गया। साथ ही यह भी कहा कि ऐसे परिवारों को घर निर्माण के लिए 1.2 लाख रुपये की धनराशि दी जाएगी. एक सरकारी प्रतिनिधि के मुताबित, इससे पहले उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में 65 परिवारों को एक मिल में नौकरी दी जाती थी, जो 1984 में बंद हो गई थी।

उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना  विवरण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana के अंतर्गत हर एक व्यक्ति को गांवों में मुलभुत बनावट के विकास के विभिन्न कार्यों में डाइरेक्ट भाग लेने का अवसर मिलेगा। प्रदेश सरकार परियोजना की कुल लागत का 50% वहन करेगी, जबकि शेष 50% का योगदान इच्छुक लोगों के माध्यम से किया जाएगा। बदले में परियोजना का नाम सहकर्मी के रिश्तेदारों के नाम पर उनकी इच्छानुसार रखा जा सकता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने Hot Mix और Full Depth Reclamation प्रणाली का उपयोग करते हुए प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना और जिला पंचायतों के अंतर्गत विभिन्न सड़कों का उद्घाटन और शिलान्यास करते हुए Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana के संबंध में ऐलान किया। मुख्यमंत्री ने ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभागों को नई Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana के अनुसार शुभारंभ के लिए एक कार्य योजना प्रस्तुत करने को भी कहा।

ग्रामीण बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए यूपी मातृभूमि योजना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकारों की तरफ से गांवों के सर्वांगीण विकास के लिए लगातार काम किया जा रहा है। Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana गांवों में निम्नलिखित की स्थापना में एक अच्छी कोश्शि साबित हो सकती है।

स्वास्थ्य केंद्र
आंगनबाडी केंद्र
पुस्तकालय
Stadium
Gymkhana
Open Gym
मवेशी नस्ल सुधार केंद्र
Fire Service Station

CM योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि Smart गांवों के लिए CCTV लगाने, अंतिम संस्कार स्थलों के विकास या Solar Light लगाने के लिए हर काम में जनता की साझेदारी हो सकती है। नई Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana के माध्यम से संबंधित व्यक्ति कुल लागत का आधा धारक करके परियोजना का पूरा क्रेडिट ले सकेगा। मुख्यमंत्री ने ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत के अध्यक्षों और सदस्यों से बातचीत करते हुए कहा कि पंचायतों को आत्मनिर्भर होने की आवश्यकता है।

ग्रामीण विकास पर मुख्यमंत्री जी ने आगे कहा कि सड़कें न केवल परिवहन का साधन हैं बल्कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने का एक शक्तिशाली साधन भी हैं। सको से गांव बहुत सूंदर दिखता है विकसित मुलभुत बनावट वाले देश भी आर्थिक रूप से समृद्ध हैं। उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में लगभग 80% आबादी ग्रामीण पृष्ठभूमि में रहती है। ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए अच्छी सड़कें और बेहतर Connectivity की आवश्यकता है जो प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के माध्यम से लगातार की जा रही है।

मुख्यमंत्री जी ने यह बताया कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, जिसे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने वर्ष 2000 में शुरू किया था, जो गांवों की प्रगति का माध्यम बन गई है।

यह भी देखें:- MP Board Exam: MP बोर्ड परीक्षाओं का Schedule जारी

यह भी देखें:- Delhi Free Rashan Yojana:अब 6 महीने और मिलेगा मुफ्त राशन, दिल्लीवासियों के लिए खुशखबरी

यह भी देखें:- UP Free Laptop Yojana: Online Registration Form जारी, योजना का लाभ उठाये

Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana की शुरुआत किसने की?

Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana की शुरुआत किसने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने की।

Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana का उद्देश्य बताईये?

Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana का उद्देश्य ग्रामीण बुनयादी ढांचे का विकास करना, Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana के अंतर्गत ऐसे परिवारों को 2 एकड़ भूमि कृषि कार्य के लिए तथा 200 वर्ग मीटर क्षेत्र में रहने के लिए 1 रुपये के पट्टे पर 30 वर्ष के समय के लिए दी जाएगी।