UP Bhagya Laxmi Yojana 2021: ₹20,0000 की वित्तीय सहायता राशि

UP Bhagya Laxmi Yojana। UP Bhagya Laxmi Yojana 2021। ₹200000 की वित्तीय सहायता राशि। Uttar Pradesh Bhagya Laxmi Yojana 2021

UP Bhagya Laxmi Yojana 2021। ₹200000 की वित्तीय सहायता राशि

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा राज्य की गरीब परिवार की कन्याओं को आर्थिक रूप से लाभान्वित करने हेतु यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना की शुरुआत की गई है। यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत कन्या के जन्म होने पर कन्या को ₹50000 की वित्तीय सहायता राशि उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा दी जाएगी। तथा  कन्या की मां को ₹5000 की वित्तीय सहायता राशि राज्य सरकार के द्वारा प्रदान की जाएगी। आज हम आपके साथ हमारे इस लेख के माध्यम से यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया, मुख्य उद्देश्य, यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना क्या है?, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

UP Bhagya Laxmi Yojana 2021। यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021

 उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा कन्या की कक्षा दसवीं में प्रवेश करने पर ₹3000 तथा कक्षा आठवीं में ₹5000 और कक्षा दसवीं में ₹7000 और कक्षा 12वीं में ₹8000 की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी। यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा प्रदान की जाने वाली वित्तीय सहायता राशि लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में डीबीटी के माध्यम से ऑनलाइन हस्तांतरित की जाएगी। उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत कन्या की आयु 21 वर्ष होने पर कन्या के माता-पिता को कुल  ₹200000 की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत बीपीएल परिवारों की केवल दो बालिकाओं को लाभान्वित किया जाएगा ।यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा प्रदान की जाने वाली वित्तीय सहायता राशि से राज्य की कन्या उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे।उत्तर प्रदेश राज्य के इच्छुक आवेदक जो यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं वह सभी इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।

UP Bhagya Laxmi Yojana 2021 Objective

आप सभी इस बात से भलीभांति परिचित होंगे कि हमारे समाज में कन्याओं की स्थिति कुछ खास नहीं है। हमारे देश में कई ऐसे गरीब परिवार होते हैं जो पैसों की कमी होने के कारण लड़कियों को पैदा होने होते ही मार देते हैं या उनकी भ्रूण में ही हत्या करवा देते हैं। इन सभी अपराधों  को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना की शुरुआत की गई है ।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य की कन्याओं को वित्तीय सहायता राशि प्रदान कर लोगो की बेटियो के प्रति सोच बदलना और भ्रूण हत्या को रोकना है। यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा कन्याओं को ₹200000 तक की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है ।

UP Bhagya Laxmi Yojana 2021 Key Features

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के अंतर्गत बीपीएल परिवारों की कन्याओं को लाभान्वित किया जाएगा।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा कन्या के जन्म होने पर ₹50000 की वित्तीय सहायता राशि और कन्या की मां को 5100 रुपए की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

इसके अतिरिक्त, यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत कन्या के कक्षा छठी में प्रवेश करने पर ₹3000, कक्षा आठवीं में ₹5000, कक्षा दसवीं में ₹7000 तथा कक्षा 12वीं में ₹8000 की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

कन्या की आयु 21 वर्ष की होने पर उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा कन्या के माता-पिता को ₹200000 तक की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत राज्य सरकार के द्वारा एक कुटुंब की दो कन्याओं को लाभान्वित किया जाएगा।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना तहत लाभ प्राप्त करने हेतु कन्या का सरकारी शिक्षण संस्थान में प्रवेश करवाना होगा।

UP Bhagya Laxmi Yojana Eligibility Criteria

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाले व्यक्ति के परिवार की वार्षिक आय ₹200000 से कम होनी चाहिए।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत आवेदन करने हेतु कन्या के जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर 1 वर्ष तक जन्म नामांकन किया जाना चाहिए ।

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाली कन्या की का विवाह 18 वर्ष से कम उम्र की आयु में नहीं होना चाहिए।

माता-पिता उत्तर प्रदेश राज्य के स्थाई निवासी होने चाहिए।

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाली कन्या को स्वास्थ्य विभाग से रोग प्रतिरक्षी करवाना अनिवार्य है।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाले कन्या का जन्म 31 मार्च 2006 के बाद होना अनिवार्य है।

UP Bhagya Laxmi Yojana 2021 Required Documents

माता पिता का आधार कार्ड
निवास प्रमाण पत्र
आय प्रमाण पत्र
जाति प्रमाण पत्र
भाग्यलक्ष्मी योजना में हिस्सा लेने के लिए बेटी का जन्म जहाँ हुआ है उस अस्पताल का बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
बैंक अकाउंट पासबुक
मोबाइल नंबर
पासपोर्ट साइज फोटो

UP Bhagya Laxmi Yojana 2021 Application Procedure

सबसे पहले आवेदक को महिला एवं बाल विकास विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आवेदक को एप्लीकेशन फॉर्म पीडीएफ का लिंक दिखाई देगा।

आवेदक को इस एप्लीकेशन फॉर्म को डाउनलोड करना होगा।

पीडीएफ डाउनलोड करने के पश्चात आवेदक को आवेदन पत्र का प्रिंट आउट निकाल कर आवेदन पत्र में पूछी गई सभी आवश्यक जानकारी जैसे नाम जन्मतिथि, पता आदि दर्ज करनी होगी।

सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करने के पश्चात आवेदक को सभी आवश्यक दस्तावेज को आवेदन पत्र के साथ संगलन करना होगा।

आवेदन पत्र पूरा भरने के पश्चात् आवेदक को आवेदन पत्र को अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र या अपने नज़दीकी महिला कल्याण विभाग के कार्यालय में जाकर जमा करवाना होगा। इस प्रकार आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी होती है।

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के अंतर्गत किसे लाभान्वित किया जायेगा ?

इस योजना के तहत राज्य के BPL परिवारों की कन्या को लाभन्वित किया जायेगा।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत कितनी वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी ?

कन्या की आयु 21 वर्ष की होने पर उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा कन्या के माता-पिता को ₹200000 तक की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी।