Uttarakhand Solar Energy Self Employment Scheme 2021

Uttarakhand Solar Energy Self Employment Scheme 2021 । Solar Energy Self Employment Scheme । मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा  स्वरोजगार योजना । सौर ऊर्जा  स्वरोजगार योजना । उत्तराखंड सौर ऊर्जा  स्वरोजगार योजना । उत्तराखंड मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा  स्वरोजगार योजना । Solar Energy Self Employment Scheme 2021 । CM Solar Energy Self Employment Scheme 2021

Uttarakhand Solar Energy Self Employment Scheme 2021

आप सभी इससे भली भांति परिचित होंगे कि देश में दिन प्रतिदिन बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। इसी समस्या को मद्देनजर रखते हुए कई राज्य सरकार द्वारा राज्य के बेरोजगार लोगो को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए हर मुम्किन कोशिश कर रही है। इस प्रकार उत्तराखंड राज्य सरकार ने इस मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार की शुरुआत राज्य के बेरोजगार लोगो, किसानों और प्रवासी मजदूरों के लिए की है।

Solar Energy Self Employment Scheme। मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा  स्वरोजगार योजना

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी ने राज्य के बेरोजगार युवाओं, किसानों, प्रवासी मजदूरों को स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना को शुरू किया है। मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के तहत उत्तराखंड राज्य के बेरोजगार युवाओं, किसानों, प्रवासी मजदूरों को सौर ऊर्जा के जरिए अपना रोजगार शुरू करने के लिए सुनहरा अवसर प्रदान किया है।

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना को पूरे उत्तराखंड राज्य में लागू किया गया है । मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा  स्वरोजगार योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा 25 किलोवाट क्षमता की सोलर पावर प्लांट प्रदान किए जाएंगे ।और साथ ही में इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार लोन /सब्सिडी अनुदान भी प्रदान की जाएंगी। मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा 10,000 बेरोजगार व्यक्तियों को रोजगार प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिल सकेगे और वह अपनी आजीविका को पूर्ण कर सकेगे।आप सभी को मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करना होगा ।

Solar Energy Self Employment Scheme Objective

इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के बेरोजगार युवाओं , किसानों, और प्रवासी मजदूरों को रोजगार के अवसर प्रदान करना है। उत्तराखंड राज्य में बेरोजगार उद्यमियों को ऐसे प्रवास काशी मजदूर जो दूसरे राज्य से अपने राज्य लौट कर आए हैं ।उन सभी को अपना स्वयं का रोजगार शुरू करने के लिए राज्य सरकार ने इस योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के अंतर्गत प्रवासी मजदूर श्रमिक किसान और बेरोजगार युवा अपने खेतों या फिर लीज पर जमीन लेकर सोलर पावर प्लांट स्थापित करके स्वयं का रोजगार शुरू कर सकेंगे।

Solar Energy Self Employment Scheme

Solar Energy Self Employment Scheme Key Features

कोरोनावायरस कोरोना वायरस महामारी के कारण उत्तराखंड राज्य में दूसरे राज्य से लौटे प्रवासी मजदूरों के लिए इस योजना को शुरू किया गया है।

इस योजना के अंतर्गत उनकी आजीविका का मजबूत आधार बन सकती है ।

इस योजना के अंतर्गत राज्य के विरुद्ध एवं सीमांत किसान तथा प्रवासी मजदूर अपने स्वयं का रोजगार शुरू करने का अवसर प्राप्त करना चाहते हैं तो उनके पास ऐसी होनी चाहिए जो कृषि योग्य नहीं है, उस भूमि पर वह सोलर पावर प्लांट की स्थापना कर और विद्युत उत्पादन में यूपीसीएल को विक्रय करके अपना आय का साधन विकसित कर सके।

इस योजना के अंतर्गत राज्य के बेरोजगार युवाओं सीमांत किसानों और प्रवासी मजदूरों को 25 किलोवाट क्षमता के सोलर पावर प्लांट प्रदान किए जाएंगे।
सरकार द्वारा इस योजना के लिए  लगभग खर्च 1000000 रुपए तक का होगा।

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के तहत राज्य के 10000 बेरोजगार युवाओं को अपने स्वयं का रोजगार शुरू करने का मौका प्रदान किया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत उत्तराखंड के लोगों को ऋण प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री सोर स्वरोजगार योजना के तहत उत्तराखंड राज्य के बेरोजगार युवाओं, कृषि को प्रवासियों को अपनी निजी भूमि अथवा लीज पर भूमि लेकर सोलर पावर प्लांट स्थापित करने के लिए इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं

Click Here–>> Uttarakhand Mukhyamantri Swarojgar Yojana

Solar Energy Self Employment Scheme Benefits

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना का लाभ उत्तराखंड राज्य के बेरोजगार युवाओं किसानों और दूसरे राज्य से वापस अपने राज्य लौट कर आए प्रवासी मजदूरों को दिया जाएगा।

इस योजना के तहत राज्य के बेरोजगार युवाओं किसानों और प्रवासी श्रमिकों को सौर ऊर्जा के क्षेत्र में स्वरोजगार शुरू करने के अवसर प्रदान की जाएंगे।

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत आवेदक व्यक्ति अपनी खुद की भूमि या फिर लीज पर भूमि लेकर सोलर पावर प्लांट लगा सकेंगे।

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत राज्य के 10000 बेरोजगार युवाओं को रोजगार प्रदान किया जाएगा।

एमएसएमई तथा वित्त विभाग की सहमति के द्वारा इस योजना के लाभार्थियों का सालाना लक्ष्य तय किया जाएगा।

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के तहत प्रदान किए जाने वाले सोलर पॉवर प्लांट को लगाने की विनिर्माणक प्रक्रिया के लिए सूक्ष्म, लघु, एवं मध्यम उद्योग (MSME) विभाग द्वारा शुरू “मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना” के तहत प्रदान किए जाने वाले अनुदान/मार्जिन मनी और लाभ प्राप्त कर सकेगे।

25 किलोवाटकी क्षमता के पावर सोलर पावर प्लांट की स्थापना पर लगभग 40,000 प्रति किलोवाट की दर से कुल 10 लाख रूपए तक की लागत संभावित है।

25 किलोवॉट की क्षमता के सोलर पावर प्लांट से साल भर 38000 unit का विद्युत उत्पादन किया जा सकेगा।

Solar Energy Self Employment Scheme Loan Procedure

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत परियोजना लागत की 70% राशि राज्य और जिला सहकारी बैंक से 8% ब्याज दर पर लोग लोन प्राप्त कर सकेंगे और बाकी बची शेष राशि संबंधित आवेदक द्वारा मार्जिन मनी के रूप में वहन की जाएगी।

राज्य सरकार ने कहा है इस योजना के अंतर्गत केवल वही व्यक्ति पात्र होगा जिसके पास 1,50,000 से ₹2,50,000 तक की पूंजी होगी तभी वह राज्य सरकार के सहयोग से सोलर पावर प्लांट लगा सकता है और स्वयं का रोजगार शुरु कर सकता है।

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत सहकारी बैंकों से 15 साल की अवधि के लिए लोन प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के तहत राज्य के सीमांत जिलों में यह अनुदान 30% तक का का होगा और पर्वतीय जिलों में 25% तथा अन्य जिलों/ क्षेत्रों में इसका अनुदान 15% तक ही होगा।

Solar Energy Self Employment Scheme Eligibility Criteria

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपका उत्तराखंड का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।

राज्य के बेरोजगार युवा ,किसान और प्रवासियों को ही इस योजना के लिए पात्र माना जायेगा।

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाले उद्यमशील युवक, ग्रामीण बेरोज़गार एवं कृषक 18 वर्ष से अधिक आयु होना अनिवार्य है।

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत स्वरोजगार प्राप्त करने के लिए आवेदक की कोई शैक्षिक योग्यता बाध्य नहीं है। बिना शैक्षिक योग्यता के भी आवेदक इस योजना का लाभ प्राप्त के लिए आवेदन कर सकते है।

इस योजना के अंतर्गत एक आवेदक व्यक्ति को केवल एक ही सोलर पावर प्लांट प्रदान किया जाएगा।

Solar Energy Self Employment Scheme Required Documents

आधार कार्ड
पहचान पत्र
बैंक अकाउंट पासबुक
निवास प्रमाण पत्र
मोबाइल नंबर
पासपोर्ट साइज फोटो

Solar Energy Self Employment Scheme Registration Procedure

मुख्यमंत्री सौर ऊर्ज स्वरोजगार योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आवेदक को उरेडा द्वारा MSME Online Portal पर आवेदन आमंत्रित /प्राप्त किये जायेंगे।

इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए सभी आवेदकों को एक आवेदन पत्र को भरना होगा और आवेदन के साथ ही में प्रत्येक आवेदक को रु 500/- (जी0एस0टी0 सहित) आवेदन शुल्क के रूप में निर्देशक,उरेडा,देहरादून के पक्ष में बैंक ड्राफ्ट के रूप में जमा करवाना होगा या फिर उरेडा के खाता सं0- 4422000101072887,IFSC Code:PUNB0442200, ब्रांच :विधानसभा,देहरादून में जमा करवाना होगा।

आवेदन पत्र की स्क्रूटनी के लिए प्रत्येक जनपद में से निम्नानुसार “तकनीकी समिति” गठित की जायेगी :-
महाप्रबंधक,जिला उद्योग केंद्र अथवा उनके द्वारा नामित प्रतिनिधि।
यू0पी0सी0एल0 के सम्बंधित जनपद के अधिशासी अभियन्ता।
उरेडा के जनपदीय अधिकारी, (समन्वयक)

तकनीकी तौर पर उपयुक्त पाये गये आवेदकों को परियोजना का आवंटन जनपद स्तर पर गठित समिति द्वारा प्रदान किया जायेगा :-
जिलाधिकारी अथवा उनके द्वारा नामित मुख्य विकास अधिकारी – अध्यक्ष। महाप्रबन्धक,जिला उद्योग केंद्र -सदस्य।
अधिशासी अभियन्ता, यू0पी0सी0एल0 – सदस्य।
सम्बंधित जनपद के सचिव /महाप्रबन्धक,जिला सहकारी बैंक – सदस्य।
वरि0 परि0 अधि0 /परि0 अधि0,उरेडा – सदस्य सचिव।

मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत आवंटन पत्र प्राप्त के बाद लाभार्थी को उत्तराखंड पावर कॉर्पोरेशन लि0 (यू0पी0सी0एल0) के साथ विद्युत् क्रय अनुबंध हस्ताक्षरित करना होगा।