Soil Health Card 2022- सॉइल हैल्थ कार्ड {Apply Now, Status, Details}

Soil Health Card:- भारत सरकार ने वर्ष 2015 में देश के किसानों के लिए मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना को शुरू किया। है। सॉइल हैल्थ कार्ड योजना के तहत देश के किसानों को जमीन की मिट्टी की क्वालिटी का अध्यन करके एक अच्छी फसल प्राप्त करने के लिए मदद की जाएगी । इस योजना के अंतर्गत किसानों को एक सॉइल हैल्थ कार्ड दिया जाएगा । उसमे किसानों की मिट्टी की सभी जानकारी दी जायेगी और मिट्टी की गुणवत्ता आधार पर अच्छी फसल की खेती के सके।

Soil Health Card 2022

CLICK HERE:- UP Ration Card List 2022 (नाम देखे) आप घर बैठे अपने राशन कार्ड में नाम देख सकते हैं।

Soil Health Card- सॉइल हैल्थ कार्ड

 केन्द्र सरकार द्वारा सॉइल हैल्थ कार्ड योजना के तहत प्रत्येक किसान को 3 साल में सॉइल हैल्थ कार्ड प्रदान किया जाएगा। मृदा स्वास्थ्य कार्ड किसानों को उनके खेतों की मिट्टी की गुणवत्ता के आधार पर प्रदान किया जाएगा। और यह कार्ड हर 3 साल में एक बार प्रदान किया जाएगा। इस योजना के तहत केंद्र सरकार ने करीब 14 करोड़ किसानों को सॉइल हैल्थ कार्ड जारी करने का लक्ष्य रखा है। सॉइल हैल्थ कार्ड में खेतों की मिट्टी के लिए उर्वरकों और पोषण के बारे बताया जाएगा। यह कार्ड एक रिपोर्ट कार्ड की तरह है जिसमें सॉइल की सभी जानकारी प्रदान की जाएगी।

Soil health card 2022 Aim

 Soil Health Card Scheme का मुख्य उद्देश्य किसानों की जमीन की मिट्टी का अध्ययन कर उन्हें मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान करना है। इससे किसान अपने खेतों की मिट्टी की गुणवत्ता के आधार खेती कर सकेंगे। मृदा स्वास्थ्य कार्ड की सहायता से मिट्टी की गुणवत्ता के आधार पर फसल लगाने से फसल की उत्पाकता क्षमता बढ़ेगी और उस से किसानों की आय में भी बढ़ोत्तरी होगी और खाद के उपयोग से मिट्टी की उर्वरकता और संतुलन को बढ़ावा देना है जिसे से कम कीमत में अभिक पैदावार मिल सके।

Soil health card Key Features

  •  सॉइल हैल्थ कार्ड योजना के तहत किसानों को मिट्टी की जांच करके मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा करीब 14 करोड़ किसानों को सॉइल हैल्थ कार्ड प्रदान किए जाएंगे।
  •  सॉइल हैल्थ कार्ड में खेतों की मिट्टी के लिए उर्वरकों और पोषण के बारे बताया जाएगा। यह कार्ड एक रिपोर्ट कार्ड की तरह है जिसमें सॉइल की सभी जानकारी प्रदान की जाएगी ।
  •  Soil health card scheme का मुख्य उद्देश्य किसानों की जमीन की मिट्टी का अध्ययन कर उन्हें मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान करना है।
  •  Soil health card scheme  किसानों हर 3 साल में एक बार प्रदान किया जाएगा
  • किसानों को सॉइल हैल्थ के आधार खेती करने के सुझाव दिए जायेंगे।
  • इस योजना के लिए केंद्र सरकार द्वारा 568 करोड़ रुपए का बजट तय किया गया है।
  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के अंतर्गत पहले चरण में 10.74 करोड़ कार्ड तथा दूसरे चरण में 11.69 करोड़ कार्ड वितरित किए गए है।

Soil Health Card Contain

  •  खेत की उत्पाक क्षमता
  •  पोषक तत्व की उपस्थिति और उनकी कमी
  • पानी की मात्रा /नमी
  • अन्य पोषक तत्व की उपस्थिति
  • मिट्टी की गुणवत्ता को सुधारने हेतु उचित निर्देश

Soil health card Apply Online

  •  साइल हैल्थ कार्ड बनवाने के लिए सबसे पहले आवेदक को इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा | अब आपके सामने आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
Soil Health Card official website
  •  मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आपको Login के ऑप्शन पर क्लिक करना है |अब आपके सामने आगे का पेज खुल जायेगा इस पेज पर आपको अपने राज्य का चयन करना करना है।
soil health card select state
  • राज्य का चयन करने के पश्चात् आपको Continue के बटन पर क्लिक करना है। अब आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा |
  •  अब आपको सामने एक लॉगिन फॉर्म खुल जायेगा इस लॉगिन फॉर्म में आपको नीचे New Registration के ऑप्शन पर क्लिक करना है। अब आपके सामने आवेदन पत्र खुल जायेगा |
soil health card login
  •  इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आवेदक को User Organisation Details, Language, User Details, User Login Account Details आदि सभी पूछी गयी जानकारिया ध्यानपूर्वक भरनी होगी।
soil health card mobile app download

You can also check different reports related to your Soil Health Card

different reports related to your Soil Health Card
  •  सभी आवश्यक जानकारिया भरने के बाद आवेदक को सबमिट के बटन पर क्लिक करना है। पंजीकरण करने के बाद आपको लॉगिन करना है ।

 Print Soil health card

  1.  सबसे पहले आवेदक को मृदा स्वास्थ्य कार्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  2. आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आपको Farmer Corner में Print Soil Health Card के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  3. अब आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  4. चयन करने के बाद कंटिन्यू के बटन पर क्लिक करने पर आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेग। इस फॉर्म में आपको district, village, farmers name आदि सभी जानकारिया भरनी होगा ।
  5. अब आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना है । इसके पश्चात् आपके सामने मृदा स्वास्थ्य कार्ड खुल जायेगा और आप इस कार्ड को प्रिंट कर सकते है।

सॉइल हैल्थ कार्ड योजना के तहत देश के किसानों को जमीन की मिट्टी की क्वालिटी का अध्यन करके एक अच्छी फसल प्राप्त करने के लिए मदद की जाएगी ।उसमे किसानों की मिट्टी की सभी जानकारी दी जायेगी और मिट्टी की गुणवत्ता आधार पर अच्छी फसल की खेती के सके।

सॉइल हैल्थ कार्ड में खेतों की मिट्टी के लिए उर्वरकों और पोषण के बारे बताया जाएगा। यह कार्ड एक रिपोर्ट कार्ड की तरह है जिसमें सॉइल की सभी जानकारी प्रदान की जाएगी।

Soil health card का उद्देश्य?

 Soil Health Card Scheme का मुख्य उद्देश्य किसानों की जमीन की मिट्टी का अध्ययन कर उन्हें मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान करना है। इससे किसान अपने खेतों की मिट्टी की गुणवत्ता के आधार खेती कर सकेंगे। मृदा स्वास्थ्य कार्ड की सहायता से मिट्टी की गुणवत्ता के आधार पर फसल लगाने से फसल की उत्पाकता क्षमता बढ़ेगी और उस से किसानों की आय में भी बढ़ोत्तरी होगी और खाद के उपयोग से मिट्टी की उर्वरकता और संतुलन को बढ़ावा देना है जिसे से कम कीमत में अभिक पैदावार मिल सके।

Soil health card Key फीचर्स बताईये?

सॉइल हैल्थ कार्ड योजना के तहत किसानों को मिट्टी की जांच करके मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किया जाएगा।
इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा करीब 14 करोड़ किसानों को सॉइल हैल्थ कार्ड प्रदान किए जाएंगे।
 सॉइल हैल्थ कार्ड में खेतों की मिट्टी के लिए उर्वरकों और पोषण के बारे बताया जाएगा। यह कार्ड एक रिपोर्ट कार्ड की तरह है जिसमें सॉइल की सभी जानकारी प्रदान की जाएगी ।

 Soil health card scheme का मुख्य उद्देश्य किसानों की जमीन की मिट्टी का अध्ययन कर उन्हें मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान करना है।
 Soil health card scheme  किसानों हर 3 साल में एक बार प्रदान किया जाएगा
किसानों को सॉइल हैल्थ के आधार खेती करने के सुझाव दिए जायेंगे।
इस योजना के लिए केंद्र सरकार द्वारा 568 करोड़ रुपए का बजट तय किया गया है।
मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के अंतर्गत पहले चरण में 10.74 करोड़ कार्ड तथा दूसरे चरण में 11.69 करोड़ कार्ड वितरित किए गए है।

Soil Health Card Contain?

खेत की उत्पाक क्षमता
 पोषक तत्व की उपस्थिति और उनकी कमी
पानी की मात्रा /नमी
अन्य पोषक तत्व की उपस्थिति
मिट्टी की गुणवत्ता को सुधारने हेतु उचित निर्देश