Saheli Samanvay Kendra Scheme 2021: To Empower Women

Saheli Samanvay Kendra | Saheli Samanvay Kendra scheme | delhi samanvay scheme

दिल्ली सरकार ने आंगनवाड़ी केंद्रों की स्थापना के लिए एक नई योजना शुरू की है जिसका नाम है “सहेली समनवे केंद्र योजना” 2021। इस योजना ( सहेली समंवय केंद्र योजना ) का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को सशक्त बनाना और उन्हें अर्थव्यवस्था में एक बड़ी भूमिका देना है। इस योजना के तहत शहर के विभिन्न हिस्सों में 500 आंगनवाड़ी केंद्रों की स्थापना की जाएगी और इसके माध्यम से महिलाओ को शशक्त बनाया जायेगा और सशक्तीकरण हासिल किया जाएगा। इस लेख में, हम आपको योजना के साथ-साथ दिल्ली बजट 2021 में घोषित अन्य योजनाओं के बारे में भी बताएंगे।

Delhi Saheli Samanvay Kendra Scheme 2021

8 मार्च 2021 को, दिल्ली सरकार ने सहेली समनवे केंद्र योजना शुरू करने की घोषणा की है। इस योजना में, व्यक्तिगत स्टार्टअप शुरू करने और स्वयं सहायता समूहों को बढ़ावा देने के लिए 500 आंगनवाड़ी केन्द्रो को स्थापित किए जाने की योजना है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश करते हुए यह घोषणा की है। उप मुख्यमंत्री ने समाज कल्याण विभाग, महिला और बाल विकास और SC / ST / OBC के कल्याण के लिए 4,750 करोड़ दिए है ।

सम्रिद्धि पहल – महिलाओं को सहेली समनव केन्द्रों में प्रशिक्षण

दिल्ली सरकार महिलाओं के प्रशिक्षण के लिए आंगनवाड़ी केंद्रों में विशेष व्यवस्था करेगी। यह प्रशिक्षण महिलाओं को सूक्ष्म आर्थिक इकाइयों को खोलने और स्वयं सहायता समूहों की बैठकें आयोजित करने के लिए प्रदान किया जाएगा। आंगनवाड़ी केन्द्रो का उपयोग आस-पास के क्षेत्रों की महिलाओं द्वारा रोज सुबह 4 घंटे किया जाएगा। सहेली समनव केंद्र योजना बनाने का निर्णय एक सर्वेक्षण के आधार पर लिया गया है जो पहले राज्य सरकार द्वारा आयोजित किया गया था। यह सर्वेक्षण दिल्ली में लोगों की आजीविका पर COVID-19 संकट और उसके बाद के लॉकडाउन के प्रभाव को समझने के लिए आयोजित किया गया था।

सर्वेक्षण रिपोर्टों से यह पता चला कि COVID-19 महामारी से पहले, महिलाओं के बीच बेरोजगारी पिछले साल फरवरी में 26% थी और फरवरी 2021 में यह बढ़कर 40% हो गई। सर्वेक्षण के आंकड़ों से पता चलता है कि दिल्ली की महिलाये रोजगार करने के लिए तैयार है लेकिन उन्हें सही प्रशिक्षण एवं प्लेटफार्म की जरूरत है। लेकिन 40% महिलाओ को कोई काम नहीं मिल पा रहा है। इनमें से लगभग 45% महिलाओं ने 12 वीं कक्षा पूरी कर ली है और इनमें से 60% महिलाएँ 30 वर्ष से कम उम्र की हैं।

सूर्योदय योजना दिल्ली

मादक द्रव्यों के सेवन से निपटने के लिए, दिल्ली में सूर्योदय योजना के तहत 7.2 करोड़ रुपये आवंटित किये गए है। दिल्ली सरकार द्वारा पहले शुरू की गई अन्य महिला-केंद्रित योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए, CM ने उल्लेख किया कि महिलाओं को इस तरह की पहल के बारे में अधिक जागरूक बनाने के लिए 33 स्वयं सहायता इकाइयों की स्थापना की जाएगी ताकि वे योजना का लाभ उठा सकें।

Check this also–>> PFMS Scholarship Scheme

बाबा साहेब प्रगतिशीलता विश्वकर्मा शिल्पकार ग्राम योजना

बाबा साहेब प्रगति विश्वकर्मा शिल्पकार ग्राम योजना में SC / OBC / अल्पसंख्यक समुदायों के कारीगरों को बढ़ावा देने और विकलांग लोगों को दिल्ली हाट की तर्ज पर अपने उत्पादों का प्रदर्शन करने का प्रस्ताव दिया गया है। दिल्ली अनुसूचित जाति वित्त और विकास निगम लिमिटेड ने इन कारीगरों और दुकानों के लिए विशेष रूप से शिल्पी हाट का निर्माण किया जायेगा और उन्हें मासिक पट्टे के आधार पर 5 साल के लिए आवंटित किया जायेगा।

Sugamya Sahayak Scheme Delhi

सुगम्य सहायता योजना को दिल्ली में उन विकलांग व्यक्तियों की गतिशीलता को सुविधाजनक बनाने के लिए शुरू की गयी है जिससे की उन्हें सहायता और उपकरण मिल सके और उन्हें सहायता प्रदान हो सके। सरकार विकलांग व्यक्तियों के लिए एक पुनर्वास संस्थान की स्थापना का भी प्रस्ताव किया गया है।