Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana 2021

Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana 2021 | Krishi Upaj Rehan Yojana 2021 | Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana | Krishi Upaj Rehan Yojana | राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना 2021 | राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना | कृषि उपज रहन ऋण योजना | Rajasthan Krishi Upaj Rehan Scheme

Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana
Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana 2021 3

Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana 2021

नमस्कार दोस्तों आज हम आपके लिए एक नई जानकारी लेकर आये है। आज हम आपको बताएंगे की राज्य सरकार छोटे और सीमांत किसानो की सहायता करने के लिए क्या क्या नई पहल शुरू करने जा रही है। साथ ही हम आपको बताएंगे की इस योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है, इस योजना की पात्रता और आवश्यक दस्तावेज आदि की सम्पूर्ण जानकारी देंगे।

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्रीमान अशोक गहलोत राज्य के छोटे और सीमांत कृषको के लिए एक नयी योजना शुरू की है। इस योजना का नाम राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना है। राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना के तहत राजस्थान राज्य के छोटे और सीमांत कृषको को राज्य सरकार द्वारा कम ब्याज दरों पर लोन आर्थिक सहायता के रूप में मुहैया कराया जायेगा। इससे राज्य के सभी छोटे और सीमांत किसानो को अपनी फसलों का उचित मूल्य मिल सकेगा।

Online Food Licence Registration          Cylinder Booking Online

Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana

कृषि उपज रहन ऋण योजना के तहत राज्य के छोटे और सीमांत कृषको को राज्य सरकार 1,50000 रूपये तक लोन मुहैया कराएगी। और बड़े पैमाने पर खेती करने के लिए राज्य सरकार के द्वारा कृषको को 3 लाख रूपये तक लोन 11 प्रतिशत ब्याज दर से मुहैया कराया जायेगा।

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना के तहत छोटे और सीमांत किसानो को बैंक में सिर्फ लोन का 3 प्रतिशत ब्याज ही वापस करना होगा और शेष बाकी का 7 प्रतिशत ब्याज का भुगतान राज्य सरकार के द्वारा किया जायेगा। कृषि उपज रहन ऋण योजना को राजस्थान राज्य के सभी जिलों में क्रियान्वित किया जायेगा। इस योजना को सही रूप से चलाने के लिए राजस्थान सरकार राज्य में प्रति वर्ष 50 करोड़ रूपये की राशि अनुदान करेगी।

राज्य के जिन कृषको के पास अगर 8 बीघा से कम ज़मीन होगी केवल वही किसान इस योजना का लाभ उठा सकते है|राजस्थान कृषि उपज रहन योजना का लाभ उठाने के लिए राज्य के सभी इच्छुक आवेदकों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। 

Rajiv Gandhi Career Portal Rajasthan

Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana 2021 Aim

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के छोटे और सीमांत किसानो को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना। कोरोना महामारी के चलते पुरे देश में लॉक डाउन के कारन देश की आर्थिक अर्थव्यवस्था काफी बिगड़ चुकी है लेकिन राज्य सरकार इसे वापस सुधरने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रही है। राज्य सरकार ने इसे मद्देनज़र रखते हुए किसानो के लिए कृषि उपज रहन लोन जोयना की शुरुआत की है।

ताकि राज्य में खेती की गुणवत्ता में अधिक वृद्धि हो। कृषि उपज रहन लोन योजना के तहत राज्य के किसानो की आय में वृद्धि करना इस उद्देश्य है। इस योजना के अंतर्गत जो लोन किसानो को दिया जायेगा इसका वितरण कल्याण कोष के द्वारा किया जा रहा है।

Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana Important Features

राजस्थान राज्य के केवल छोटे और सीमांत किसान ही कृषि उपज रहन ऋण योजना का लाभ उठा सकते है

इस योजना के तहत राज्य सरकार 1.5 लाख रुपए तक का लोन छोटे और सीमांत किसानो को और 3 लाख रूपये तक लोन बड़े पैमाने पर कृषि कार्य करने वाले किसानो 11 प्रतिशत ब्याज दर पर लोन दिया जायेगा।

लाभार्थियों के पास अपना खुद का बैंक अकाउंट होना चाहिए और आधार कार्ड बैंक अकाउंट से जुड़ा हुआ (लिंक ) होना जरुरी है।

इस योजना के तहत जो किसान लोन की अवधि पूरी होने से पहले ऋण चूका देंगे उन किसानो को ब्याज में 2 प्रतिशत छूट मिलेगी।

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना के तहत छोटे और सीमांत किसानो को बैंक में सिर्फ लोन का 3 प्रतिशत ब्याज ही वापस करना होगा और शेष बाकी का 7 प्रतिशत ब्याज का भुगतान राज्य सरकार के द्वारा किया जायेगा।

इस योजना का लाभ उन्ही किसानो को मिल पायेगा जिनके पास 8 बीघा से कम कृषि भूमि हो।

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज/ Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana required document:

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक के पास उसका आधार कार्ड, पहचान पत्र, मूल निवास प्रमाण पत्र, बैंक अकाउंट पासबुक (उस बैंक में खाता होना चाहिए जिस बैंक से आप लोन लेना चाहते है। ), फसल संबंधित कागजात, भूमि संबंधित आवश्यक दस्तावेज, आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो, मोबाइल नंबर (जो बैंक अकाउंट और आधार कार्ड दोनों से लिंक हो ) आदि होना अनिवार्य है।

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना के लिए पात्रता

इस योजना में आवेदन करने वाला किसान राजस्थान का स्थानीय निवासी होना अनिवायर है।
राज्य के उन किसानो को इस योजना का लाभ मिल पायेगा जिनके पास 8 बीघा से कम कृषि भूमि उपलब्ध हो।

वे किसान जो समय पूरा होने से पहले लोन पूरा चूका देंगे उन्हें ब्याज में 2 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट प्रदान की जाएगी

For more details visit the official website: http://www.agriculture.rajasthan.gov.in/