PM-WANI Yojana 2020 | Free wifi Facility | फ्री वाई-फाई वाणी योजना

PM-WANI Yojana 2020 | Free wifi Facility | PM-WANI Yojana Apply Online | PM-WANI scheme | फ्री वाई-फाई वाणी योजना रजिस्ट्रेशन | PM-WANI Yojana Online Panjikaran | फ्री वाई-फाई वाणी योजना लाभ | PM-WANI Yojana Application Form | प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव योजना

Short Scheme Details:
Name of SchemePM-WANI Yojana
Application StatusActive
Scheme BenefitFree wireless internet in public spaces in the country
Scheme Published On12/10/2020
Scheme Updated on12/16/2020

PM-WANI Yojana 2020| Free wifi Facility

आप सभी इस बात से भली-भांति परिचित है की आज के समय में प्रत्येक कार्य इंटरनेट के माध्यम से किया जाता है।इसी बात को मद्देनज़र रखते हुए हमारे देश की केंद्र सरकार के द्वारा डिजिटल इंडिया रेवोलुशन के पश्चात् वाईफाई रेवोलुशन करने जा रही है। अब हमारे देश के नागरिको को वाईफाई सेवा प्रदान करने के लिए हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा PM WANI YOJANA की शुरुआत की  है। आज हम आपके साथ हिमारे इस लेख के माध्यम से पीएम वाणी योजना से जुडी सभी आवश्यक जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया, मुख्य उद्देश्य , विशेषताएं, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

PM-WANI Yojana | पीएम वाणी योजना

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र  मोदी जी ने 9 दिसंबर 2020 को केंद्र मंत्री मंडल की बैठक में प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) की शुरुआत की है। प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) योजना के तहत देश के सभी सार्वजानिक स्थलों पर केंद्र सरकार के द्वारा वाई-फाई सेवाए प्रदान की जाएगी।

प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) योजना के तहत वाई-फाई सेवाए केंद्र सरकार के द्वारा निशुल्क प्रदान की जाएगी।पीएम वाणी योजना के जरिये सरकार देश में  वाईफाई क्रांति लाने जा रही है।पीएम वाणी योजना के अंतर्गत उद्यमिता को भी प्रोत्साहित किया जायेगा। और इस योजना के तहत नए रोजगार के अवसर भी उपलब्ध करवाए जायेंगे।

केंद्र सरकार के द्वारा देश में सार्वजनिक डाटा केंद्र प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) के सुचारु रूप से कार्यान्वयन के लिए खोले जाएंगे। पीएम वाणी योजना के तहत वाईफाई सेवा प्राप्त करने या करवाने के लिए कोई भी लाइसेंस शुल्क या पंजीकरण नहीं करवाना होगा। पीएम वाणी योजना के अंतर्गत छोटे दुकानदारों और व्यवसायी को निशुल्क वाई-फाई सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। ताकि उनकी आय में वृद्धि हो। पीएम वाणी योजना के अंतर्गत सरकार के द्वारा निरंतर इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान की जाएगी। 

प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) के तहत सार्वजनिक वाई – फाई सेंटर खोलने हेतु इच्छुक आवेदक को किसी भी प्रकार के लाइसेंस की जरुरत नहीं है परन्तु पीडीओए तथा वाई फाई प्रदाताओं को दूरसंचार विभाग के अंतर्गत पंजीकृत होना चाहिए। पीएम वाणी योजना के अंतर्गत आवेदन के 7 दिन के अंदर पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण होना अनिवार्य है । पीएम वाणी योजना के अंतर्गत केंद्र मंत्री मॉडल की बैठक में कैबिनेट ने मुख्य भूमि और लक्ष्य दीप समूह के मध्य सबमरीन ऑप्टिकल फाइबर केबल कनेक्टिविटी के प्रावधान को स्वीकृति दे दी है।

यह भी देखे —>>> Battery Operated Spray Pump Subsidy Yojana | 50% का अनुदान

PM-WANI Yojana Aim

प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) का मुख्य उद्देश्य हमारे देश के सभी सार्वजनिक स्थलों पर वाई-फाई की सेवाए प्रदान करना है। पीएम वाणी योजना के जरिये देश के प्रत्येक नागरिक को इंटरनेट से कनेक्ट किया जायेगा। पीएम वाणी योजना के जरिये व्यापारियों को व्यापार करने में भी सरलता होगी। और उनकी आय में वृद्धि होगी तथा नागरिको को जीवन शैली में सुधार होगा। इस योजना की शुरुआत केंद्र सरकार के द्वारा इंटरनेट की अनिवार्यता को मद्देनज़र रखते हुए की गई है। पीएम वाणी योजना का उद्देश्य डिजिटल इंडिया को प्रोत्साहित करना है।

PM-WANI Yojana

पीएम वाणी योजना के तहत इंटरनेट सेवाए उपलब्ध करवाने के लिए सार्वजनिक इंटरनेट कार्यालयों की स्थापना की जाएगी। सार्वजनिक इंटरनेट सेंटर की सहायता से निशुल्क वाई – फाई सेवाए उपलब्ध करवाई जाएगी। यह कार्यालय पुरे भारत में खोले जायेंगे। इस योजना के तहत 3rd फेज में पीएम वाणी ऍप भी विकसित किया जायेगा। इस एप के माध्यम से सभी नागरिक अपने आप को स्वयं पंजीकृत कर सकते है। और अपने नजदीकी वाई फाई नेटवर्क से कनेक्ट हो सकते है। 

PM-WANI Yojana Key Features

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 9 दिसंबर 2020 को केंद्र मंत्री मंडल की बैठक में प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) की शुरुआत की है।

प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) योजना के तहत देश के सभी सार्वजानिक स्थलों पर केंद्र सरकार के द्वारा वाई-फाई सेवाए प्रदान की जाएगी।

प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) योजना के तहत वाई-फाई सेवाए केंद्र सरकार के द्वारा निशुल्क प्रदान की जाएगी।

पीएम वाणी योजना के जरिये सरकार देश में उच्च स्टार पर वाईफाई क्रांति लानेजा रही है।पीएम वाणी योजना के अंतर्गत उद्यमिता को भी प्रोत्साहित किया जायेगा। और इस योजना के तहत नए रोजगार के अवसर भी उपलब्ध करवाए जायेंगे।

पीएम वाणी योजना के तहत इंटरनेट सेवाए उपलब्ध करवाने के लिए सार्वजनिक इंटरनेट कार्यालयों की स्थापना की जाएगी। 

इस योजना के तहत 3rd फेज में पीएम वाणी ऍप भी विकसित किया जायेगा।

PM-WANI Yojana Apply Online

प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) के तहत सार्वजनिक वाई – फाई सेंटर खोलने हेतु इच्छुक आवेदक को किसी भी प्रकार के लाइसेंस की जरुरत नहीं है परन्तु पीडीओए तथा वाई फाई प्रदाताओं को दूरसंचार विभाग के अंतर्गत पंजीकृत होना चाहिए। जैसा की आप सभी इस बात से भली भांति परिचित होंगे की हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा पीएम वाणी योजना की घोषणा अभी हाल ही में की गयी है।

पीएम वाणी योजना के तहत सरकार के द्वारा अभी तक कोई भी वेब पोर्टल या फिर आधिकारिक वेबसाइट लांच नहीं की गई है। और किसी भी प्रकार की पंजीकरण प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है। जैसे ही पीएम वाणी योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया शुरू की जाएगी। हम आपको हमारे इस लेख के माध्यम से सूचित कर दिया जाएंगे। 

For More Info

पीएम वाणी योजना की शुरुआत कब की गई है ?

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र  मोदी जी ने 9 दिसंबर 2020 को केंद्र मंत्री मंडल की बैठक में प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) की शुरुआत की है।

पीएम वाणी योजना क्या है ?

प्रधानमंत्री वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इनीशिएटिव (पीएम वाणी योजना) योजना के तहत देश के सभी सार्वजानिक स्थलों पर केंद्र सरकार के द्वारा वाई-फाई सेवाए प्रदान की जाएगी।

पीएम वाणी योजना के तहत इंटरनेट सुविधा कैसे प्रदान की जाएगी ?

पीएम वाणी योजना के तहत इंटरनेट सेवाए उपलब्ध करवाने के लिए सार्वजनिक इंटरनेट कार्यालयों की स्थापना की जाएगी।