PM Matsya Sampada Yojana: e-Gopala App 2021

PM Matsya Sampada Yojana | Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana: e-Gopala App 2021- Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana- प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना-पीएम मत्स्य सम्पदा योजना । PMMSY Apply online- e-Gopala app। Download e-Gopala app- Matsya Sampada Yojana- ई-गोपाला ऐप

PM Matsya Sampada Yojana- E-Gopala App 2021

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बिहार राज्य PM Matsya Sampada Yojana, ई-गोपाला ऐप और कई पहलों का शुभारम्भ किया है। यह सभी योजनाए मछली उत्पादन, डेयरी, पशुपालन और कृषि में अध्ययन एवं अनुसंधान से संबंधित है। पीएम ने कहा कि आज इन सभी योजनाओं की शुरुआत करने का मुख्य उद्देश्य हमारे गांवों को सशक्त बनाना और 21वीं सदी में आत्मनिर्भर भारत का निर्माण करना है।

Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana- प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना

PM Matsya Sampada Yojana (PMMSY) मत्स्य पालन के क्षेत्र में केंद्रित और सतत विकास योजना है। Matsya Sampada Yojana आत्मनिर्भर भारत पैकेज के अंतर्गत वित्त वर्ष 2020-21 से 2024-25 की अवधि के दौरान सभी राज्यों में शुरू की जाएगी।प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लिए केंद्र सरकार द्वारा 20,500 करोड़ रुपये का अनुमानित निवेश किया जायेगा ।

इस अवसर पर केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री Matsya Sampada Yojana अलावा, 1,700 करोड़ रुपये की अन्य परियोजनाएं शुरू की हैं। PM Matsya Sampada Yojana के तहत इस निवेश में से करीब 12,340 करोड़ रुपये का निवेश समुद्री, अंतदेर्शीय मत्स्य पालन और जलीय कृषि में लाभार्थी केन्द्रित गतिविधियों पर तथा 7,710 करोड़ रुपये का निवेश फिशरीज इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए प्रस्तावित किया जायेगा।प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के अंतर्गत वर्ष 2024-25 तक मछली उत्पादन को अतिरिक्त 70 लाख टन बढ़ाना है। इसके अलावा वित्तीय वर्ष 2024-25 तक मत्स्य निर्यात आय को बढ़ाकर 1,00,000 करोड़ रूपये करना तथा मछुआरों और मछली किसानों की आय को दोगुना करना, 20 – 25 % से फसल के नुकसान को कम करना है ।

Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana

PM Matsya Sampada Yojana के अंतर्गत बिहार के पटना, पूर्णिया, सीतामढ़ी, मधेपुरा, किशनगंज और समस्तीपुर में कई परियोजनाए शुरू की गयी हैं। इस योजना के अंतर्गत मछली उत्पादकों को नया बुनियादी ढांचा, आधुनिक उपकरण और नए बाजारों तक पहुंच के साथ ही कृषि के साथ अन्य साधनों माध्यम से ज्यादा अवसर उपलब्ध कराये जायेंगे।प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत मत्स्य क्षेत्र के महत्व को मद्देनज़र रखते हुए और विशेष रूप से मत्स्य पालन से संबंधित मुद्दों को देखने के लिए केंद्र सरकार ने एक मंत्रालय का गठन किया है।

प्रधानमंत्री किशनगंज में जलीय रोग रेफरल प्रयोगशाला और सीतामढ़ी में फिश ब्रूड बैंक की स्थापना की करने की घोषणा की है। इस के लिए PMMSY के अंतर्गत सहायता भी प्रदान की गई है। ये सभी सुविधाएं मछली पलको के लिए गुणवत्ता और सस्ती मछली के बीज की समय पर उपलब्धता सुनिश्चित करके और मछली के उत्पादन और उत्पादकता बढ़ाने के साथ-साथ पानी और मिट्टी परीक्षण सुविधाओं की आवश्यकता को भी सुनिश्चित करके मछली के उत्पादन और उत्पादकता को बढ़ाने में सहायता करेगी।इस योजना के अंतर्गत मधेपुरा में एक फिश फीड मिल यूनिटऔर पटना में ‘फिश ऑन व्हील्स’ की दो यूनिटों का शुभारम्भ भी किया गया है। 

PM Matsya Sampada Yojana के तहत मछुआरों और मछली पालन व बिक्री से संबंधित साथियों को कई सुविधाए प्रदान की जाएगी। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत आने 3-4 साल में मछली निर्यात भी दोगुना किया जायेगा है। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंत मछली पालन क्षेत्र में ही रोजगार के लिए लाखों नए अवसर पैदा होंगे।

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के अंतर्गत बिहार के पूर्णिया में राष्ट्रीय गोकुल मिशन के तहत अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ सेमेन स्टेशन का स्थापित की गई है, इसके लिए बिहार सरकार द्वारा 75 एकड़ भूमि पर 84.27 करोड़ रुपये का निवेश होगा। यह देश में सबसे बड़े वीर्य स्टेशनों में से एक है और इसकी उत्पादन क्षमता 50 लाख वीर्य खुराक प्रति वर्ष है। इस वीर्य स्टेशन बिहार की स्वदेशी नस्लों के विकास और संरक्षण को भी नया आयाम देगा और पूर्वी और उत्तर पूर्वी राज्यों की वीर्य खुराक की मांग को पूरा करेगा।

Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana Aim

PM Matsya Sampada Yojana का मुख्य उद्देश्य  मात्सियिकी विभाग एक सुदृढ़ मात्स्यिकी ढ़ांचे की स्थापना की जाएगी। इस योजना के तहत प्राइस चेन को सुदृढ़ करने संबंधी महत्वपूर्ण कमियों का समाधान किया जाएगा|मत्स्य सम्पदा योजना में इंफ्रास्ट्रक्चर, आधुनिकीकरण, पता लगाने की योग्यता, उत्पादन, उत्पादकता, पैदावार प्रबंध और गुणवत्ता नियंत्रण आदि को सम्मिलित किया गया हैं। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना उद्देश्य मछली पालन को बढ़ावा दिये जाने के लिए भी शुरूकी गयी हैं, क्योंकि यह एक बहुत ही अहम क्षेत्र हैं, जिससे मछली उत्पादन में भी वृद्धि होगी।

Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana Key Features

  •  Matsya Sampada Yojana के देश में नील क्रांति यानी मछली पालन से जुड़े काम, सफेद क्रांति यानी डेयरी से जुड़े काम, मीठी क्रांति यानी शहद उत्पादन, आदि में हमारे गांवों को और समृद्ध बनाने के लिए इन परियोजनाओं की शुरुआत की गयी है।
  • प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना आज देश के 21 राज्यों में इस योजना का शुभारंभ हो रहा है। 4-5 वर्षों के भीतर इस योजना के अंतर्गत 20 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए जाएंगे। इस योजना मेंआज 1700 करोड़ रुपये का काम शुरू किया गयाहै।
  •  प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत इस निवेश में से करीब 12,340 करोड़ रुपये का निवेश समुद्री, अंतदेर्शीय मत्स्य पालन और जलीय कृषि में लाभार्थी केन्द्रित गतिविधियों पर तथा 7,710 करोड़ रुपये का निवेश फिशरीज इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए प्रस्तावित किया जायेगा।
  •  प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने इस अवसर पर किसानों के लिए एक व्यापक नस्ल सुधार बाजार और सूचना पोर्टल ई-गोपाला ऐप भी लॉन्च किया।
  •  PM Matsya Sampada Yojana के अंतर्गत वर्ष 2024-25 तक मछली उत्पादन को अतिरिक्त 70 लाख टन बढ़ाना है। इसके अलावा वित्तीय वर्ष 2024-25 तक मत्स्य निर्यात आय को बढ़ाकर 1,00,000 करोड़ रूपये करना तथा मछुआरों और मछली किसानों की आय को दोगुना करना, 20 – 25 % से फसल के नुकसान को कम करना है ।
  •  प्रधानमंत्री किशनगंज में जलीय रोग रेफरल प्रयोगशाला और सीतामढ़ी में फिश ब्रूड बैंक की स्थापना की करने की घोषणा की है।
  •  इस योजना के अंतर्गत मधेपुरा में एक फिश फीड मिल यूनिटऔर पटना में ‘फिश ऑन व्हील्स’ की दो यूनिटों का शुभारम्भ भी किया गया है।
Click here For- DBT Bihar Kisan Registration 2021 बिहार किसान पंजीकरण

E-Gopala App

ई-गोपाल ऐप किसानों के लिए एक व्यापक नस्ल सुधार बाज़ार और सूचना पोर्टल है। वर्तमान में देश में पशुधन प्रबंधन करने के लिए किसानों के लिए कोई डिजिटल प्लेटफॉर्म उपलब्ध नहीं है । इस ऍप सभी रूपों (वीर्य, ​​भ्रूण, आदि) में रोग मुक्त जर्मप्लाज्म की खरीद और बिक्री शामिल है; गुणवत्तापूर्ण प्रजनन की सेवाओं (कृत्रिम गर्भाधान, पशु चिकित्सा प्राथमिक चिकित्सा, टीकाकरण, उपचार आदि) और पशु पोषण के लिए किसानों का मार्गदर्शन करना, उपयुक्त आयुर्वेदिक दवा / एथनो पशु चिकित्सा का उपयोग कर पशुओं का उपचार आदि जानकारी है ।

इस ऍप के जरिये किसनो को टीकाकरण, गर्भावस्था निदान, शांत करने आदि के लिए नियत तारीख पर और किसानों को उनके क्षेत्र में चलाई जा रही विभिन्न सरकारी योजनाओं और अभियानों के बारे में मैसेज अलर्ट के माध्यम से सूचितकिया जायेगा । ई-गोपाला ऐप के जरिये किसानों को उनकी सभी समस्याओ का समाधान प्रदान करेगा।

Download e-Gopala App

Step-1: सबसे पहले आप को गूगल प्ले स्टोर में e -Gopala App के बारे में सर्च करना है या फिर इस लिंक पर क्लिक करे।
Step-2: अब आपको Install के BUTTON पर CLICK करके इस APP को DOWNLOAD कर ले।

Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana Apply Online

PM Matsya Sampada Yojana के अंतर्गत अभी तक केंद्र सरकार द्वारा कोई अधिकारीक वेबसाइट लॉन्च नहीं की गयी है। इस योजना के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया फिलहाल शुरू नहीं हुई है। जब भी इस योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया शुरू को जाएगी हम आपको हमारे इस लेख के माध्यम से सूचित कर देंगे।

यह सब कुछ आज आपने इस लेख के जरिये जाना है। उम्मीद है यह लेख आपके लिए लाभदायक रहा होगा। अगर आपको इस लेख में कुछ समझ नहीं आया हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है। हमारे इस लेख को अपने दोस्तों,रिश्तेदारों,इत्यादि तक शेयर करना न भूले। मैं पूजा रावत आपका तहे दिल से शुक्रिया करती हूँ| कि आपने हमारे लेख को पूरा पढ़ा । और आपने अपना कीमती समय इसे पढ़ने में लगाया। एक बार फिर से दिल से धन्यावद !

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना क्या है?

PM Matsya Sampada Yojana (PMMSY) मत्स्य पालन के क्षेत्र में केंद्रित और सतत विकास योजना है। Matsya Sampada Yojana आत्मनिर्भर भारत पैकेज के अंतर्गत वित्त वर्ष 2020-21 से 2024-25 की अवधि के दौरान सभी राज्यों में शुरू की जाएगी।प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लिए केंद्र सरकार द्वारा 20,500 करोड़ रुपये का अनुमानित निवेश किया जायेगा ।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का उद्देश्य बताईये ?

PM Matsya Sampada Yojana का मुख्य उद्देश्य  मात्सियिकी विभाग एक सुदृढ़ मात्स्यिकी ढ़ांचे की स्थापना की जाएगी। इस योजना के तहत प्राइस चेन को सुदृढ़ करने संबंधी महत्वपूर्ण कमियों का समाधान किया जाएगा|मत्स्य सम्पदा योजना में इंफ्रास्ट्रक्चर, आधुनिकीकरण, पता लगाने की योग्यता, उत्पादन, उत्पादकता, पैदावार प्रबंध और गुणवत्ता नियंत्रण आदि को सम्मिलित किया गया हैं। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना उद्देश्य मछली पालन को बढ़ावा दिये जाने के लिए भी शुरूकी गयी हैं, क्योंकि यह एक बहुत ही अहम क्षेत्र हैं, जिससे मछली उत्पादन में भी वृद्धि होगी।

Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana Key Features?

 Matsya Sampada Yojana के देश में नील क्रांति यानी मछली पालन से जुड़े काम, सफेद क्रांति यानी डेयरी से जुड़े काम, मीठी क्रांति यानी शहद उत्पादन, आदि में हमारे गांवों को और समृद्ध बनाने के लिए इन परियोजनाओं की शुरुआत की गयी है।
प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना आज देश के 21 राज्यों में इस योजना का शुभारंभ हो रहा है। 4-5 वर्षों के भीतर इस योजना के अंतर्गत 20 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए जाएंगे। इस योजना मेंआज 1700 करोड़ रुपये का काम शुरू किया गयाहै। अधिक जानने के लिए ऊपर दिए गए लेख को अच्छे से पढ़े।

E-Gopala App क्या है?

ई-गोपाल ऐप किसानों के लिए एक व्यापक नस्ल सुधार बाज़ार और सूचना पोर्टल है। वर्तमान में देश में पशुधन प्रबंधन करने के लिए किसानों के लिए कोई डिजिटल प्लेटफॉर्म उपलब्ध नहीं है । इस ऍप सभी रूपों (वीर्य, ​​भ्रूण, आदि) में रोग मुक्त जर्मप्लाज्म की खरीद और बिक्री शामिल है; गुणवत्तापूर्ण प्रजनन की सेवाओं (कृत्रिम गर्भाधान, पशु चिकित्सा प्राथमिक चिकित्सा, टीकाकरण, उपचार आदि) और पशु पोषण के लिए किसानों का मार्गदर्शन करना, उपयुक्त आयुर्वेदिक दवा / एथनो पशु चिकित्सा का उपयोग कर पशुओं का उपचार आदि जानकारी है ।

E-Gopala App कैसे DOWNLOAD करें ?

Step-1: सबसे पहले आप को गूगल प्ले स्टोर में E-Gopala App के बारे में सर्च करना है या फिर इस लिंक पर क्लिक करे।
Step-2: अब आपको Install के BUTTON पर CLICK करके इस APP को DOWNLOAD कर ले।