PM Kaushal Vikas Yojana | Free Training get Money and Job By Skill India Mission

PM Kaushal Vikas Yojana | PM Vikas Yojana | PM Free Training Yojana | PM Free Training Scheme | Skill India Mission

मुफ्त में होगी ट्रेनिंग और मिलेंगे पैसे भी, ​फिर पाएं नौकरी या करें स्वरोजगार, है न कमाल का प्लान!

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको फ्री में ट्रेनिंग और जॉब मिलने जैसी जानकारी बताने जा रहे है। अगर आप भी नौकरी की तलश कर रहे है या कुछ नया कार्य करने की सोच रहे है तो आपके लिए यह काम की जानकारी है। इसका लाभ लेने के लिए इस लेख को पूरा पढ़े।

इस प्रशिक्षण (Skill India Training) के बाद मिलने वाला सर्टिफिकेट पूरे देश में मान्य होता है। यह ट्रेनिंग पूरी होने के बाद सरकार पूरी तहा से आर्थिक सहायता करती है, और साथ ही नौकरी दिलाने में भी मदद करती है।

PM Kaushal Vikas Yojana

आज हम आपको देश के युवाओं की प्राथमिकताएं क्या हैं? उनके लिए बड़ी समस्याएं क्या हैं? कौन सी चुनौतियां हैं, जो उनके भविष्य में बाधा उत्पन्न करती है? इन सवालों के मूल में बस दो ही बातें हैं। पहली- उनकी शिक्षा, यहां शिक्षा से मतलब वैसी पढ़ाई है, जो उन्हें रोटी दे सके और दूसरी बात है नौकरी या स्वरोजगार की।

आज के इस युग में उच्च शिक्षा के बावजूद भी जब नौकरी नहीं मिल पाती तो युवा तनाव में रहने लगते हैं। कई सर्वेक्षणों में यह बात सामने आ चुकी है कि युवा पढ़ाई तो पूरी कर लेते हैं। लेकिन उनमें स्किल यानी कौशल नहीं होता। बड़ी-बड़ी कंपनियां इसी वजह से प्लेसमेंट कैंप के बावजूद उन्हें काम पर नहीं रखतीं। इन सभी कारण से युवा काफी परेशां भी रहते है और उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पद रहा है। लेकिन साकार इन सभी युवाओ को प्रशिक्षण और रोजगार देने जैसे कार्यक्रम चला रही है।

इसके विपरीत बड़ी कंपनियां चाहती हैं कि ऐसी कर्मियों को प्रशिक्षण मिले और ऐसे लोगों को काम पर रखें, जिनमें जरूरी स्किल हो। अगर कोई अपना खुद का बिज़नेस करने की सोचता है है तो सबसे पहले उन्हें दिक्कत आती है खुद का रोजगार शुरू करने में भी। स्किल न हों तो अपना काम शुरू करना भी मुश्किल होता है।

इन सभी समस्याओं का समाधान सरकार कर रही है- PM Kaushal Vikas Yojana  (PMKVY) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्किल इंडिया (Skill India) के नारे के साथ इस योजना की शुरुआत की थी। यह केंद्र सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं में से एक है। यह योजना कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय की ओर से चलाई जा रही है।

क्या है इस योजना का उद्देश्य? | Aim of Pm Kaushal Vikas Yojana

इस योजना का उद्देश्य देश के युवाओं को इं​डस्ट्री से जुड़ी ट्रेनिंग देना है, और उन्हें रोजगार पाने में मदद मिल सके। बाजार में किस सेक्टर में कैसे स्किल की जरूरत है, उसके मुताबिक इसके कार्यक्रम तैयार किए गए हैं। सरकार इस योजना के जरिये कम पढ़े लिखे या 10वीं, 12वीं ड्राप आउट यानी पढ़ाई के बीच में स्कूल छोड़ने वाले युवाओं को स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग दे रही है।

सरकार ही देती है फीस, और इसमें पैसे भी मिलते है। (Free Training get Money and Job By Skill India Mission)

PM Kaushal Vikas Yojana (PMKVY) में युवाओं को नजदीकी प्रशिक्षण केंद्रों पर ट्रेनिंग दी जाती है। इसमें खास बात यह है ट्रेनिंग देने वाले संस्थान को फीस का भुगतान भी सरकार ही करती है। यहीं नहीं, प्रशिक्षण पूरा करने पर सर्टिफिकेट तो मिलता ही है। साथ में सरकार प्रशिक्षु युवाओं को करीब 8000 रुपये तक की पुरस्कार राशि भी देती है। सरकार का लक्ष्य साल 2020 तक PMKVY के तहत एक करोड़ युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देने का था। हालांकि कोरोना लॉकडाउन के कारण यह काफी हद तक प्रभावित रहा।

यह भी देखे —>>> PM Wani Yojana Free WIFI Yojana

कैसे उठाएं PMKVY योजना का लाभ? | Benefits of Pm Kaushal Vikas Yojana

इस योजना का लाभ लेने के लिए PM Kaushal Vikas Yojana (PMKVY) में आवेदक को अपना पंजीकरण और नामांकन कराना जरूरी होता है। इसके लिए आपको http://pmkvyofficial.org पर जाकर अपना नाम, पता और ईमेल आदि जानकारी भरनी होती है। और अपना रजिस्ट्रेशन सही से करना होता है।

Pm Kaushal Vikas Yojana

आवेदन के बाद युवा जिस तकनीकी क्षेत्र में ट्रेनिंग करना चाहते हैं, उन्हें चुनना होता है। इस योजना के तहत
कंप्यूटर ट्रेनिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड हार्डवेयर, फूड प्रोसेसिंग, कंस्ट्रक्शन, फर्नीचर फिटिंग, हैंडिक्राफ्ट, जेम्स एंड ज्वेलरी और लैदर टेक्नोलॉजी समेत 40 सब्जेक्ट निर्धारित हैं। अपनी पसंद का सब्जेक्ट चुनने के अलावा एक अन्य तकनीकी क्षेत्र का भी चयन करना होता है।

इस योजना के अंतर्गत सरकार नौकरी दिलाने में मदद करती है सरकार, कर सकते हैं स्वरोजगार भी

PMKVY योजना में मुख्यतः 3 महीने, 6 महीने और 1 साल के लिए ट्रेनिंग पाठ्यक्रम चलाए जाते हैं। ट्रेनिंग पूरी होने के बाद युवाओं का SSC द्वारा स्वीकृत मूल्यांकन एजेंसी की ओर से मूल्यांकन किया जाता है। पास होने पर वैध आधार (AADHAAR) नंबर के साथ आपको सरकारी सर्टिफिकेट और स्किल कार्ड मिलता है।

प्रशिक्षण के बाद मिलने वाला सर्टिफिकेट पूरे देश में मान्य होता है। ट्रेनिंग पूरी होने के बाद सरकार आर्थिक सहायता करती है और साथ ही नौकरी दिलाने में भी मदद करती है। इसके लिए राज्यों में नियोजन विभाग की ओर से जिलावार रोजगार मेले लगाए जाते हैं। इलेक्ट्रॉनिक्स, फर्नीचर, हैंडिक्राफ्ट आदि ट्रेड में प्रशिक्षित होने के बाद आप अपना खुद का रोजगार भी शुरू कर सकते हैं।

यह भी देखे —->> Post Office Saving Scheme

तो देर किस बात की आज ही रजिस्ट्रेशन करे और पाए नौकरी और अपना खुद का बिज़नेस करने का मौका।
आशा करता हु आपको यह जानकारीअच्छी लगी हो। और आपके कुछ काम आयी हो। अपने दोस्तों और जरुरत वालो लोगो तक इस जानकारी को साजा करे।