PM Gramin Ujala Yojana 2021 | 10 – 10 रुपए में LED BULB

PM Gramin Ujala Yojana 2021। Pradhanmantri Gramin Ujala Yojana Apply | प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना फ्री एलईडी बल्ब पंजीकरण | Gramin Ujala Free LED Blub Yojana Yojana प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना 2021। प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना

PM Gramin Ujala Yojana 2021

आप सभी इस बात से भली भांति परिचित होंगे कि केंद्र सरकार  द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के विकास हेतु कई प्रकार की योजनाएं चलाई जाती है । ऐसी ही एक योजना प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना  चलाई गयी है। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों के प्रत्येक परिवार को तीन से चार एलईडी बल्ब  प्रदान किए जाएंगे  ।आज हम आपको हमारे इस लेख के माध्यम से  प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना  से जुड़ी संपूर्ण  जानकारी  जैसे कि प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना क्या है?, इसके लाभ, उद्देश्य, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। प्रदान करने जा रहे है ।

PM Gramin Ujala Yojana 2021। प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना

Pradhanmantri Gramin Ujala Yojana 2021 के अंतर्गत प्रत्येक ग्रामीण परिवार को दस दस रुपए में एल ई डी बल्ब वितरीत किए जाएंगे। । प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना को पब्लिक सेक्टर की एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड द्वारा आगामी माह में वाराणसी सहित देश के 5 शहरों  के ग्रामीण क्षेत्रों में शुरू की जाएगी । पूरे देश में इस योजना को अप्रैल तक लागू कर दिया जाएगा ।

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना  के अंतर्गत एनर्जी एफिशिएंसी को ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंचना है ।इस योजना के माध्यम से विधुत में कमी आयेगी । जिससे लोगों के धन की  बचत होगी । PM Gramin Ujala Yojana 2021  के अंतर्गत  60 करोड़ एलईडी बल्ब 15 से 20 करोड़ लाभार्थियों को वितरित किए जाएंगे । इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों के लोगो को काफी लाभ प्राप्त होगा। 

Key Highlights Of  Pradhanmantri Gramin Ujala Yojana 2021

योजना का नाम प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना
किस ने लांच की एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड
लाभार्थी ग्रामीण इलाकों में रहने वाले नागरिक
उद्देश्य एनर्जी एफिशिएंसी को ग्रामीण इलाकों तक पहुंचाना
साल 2020
एलईडी बल्ब का मूल्य ₹10
लाभार्थियों की संख्या 15 से 20 करोड़
एलईडी बल्ब की संख्या 60 करोड़
बिजली की बचत 9324 करोड़ यूनिट
पैसों की बचत 50 हजार करोड़ रुपए
कार्बन उत्सर्जन में कमी 7.65 करोड़

इस योजना को सुचारु रूप से चलाया जाएगा। जिसमें उत्तर प्रदेश का वाराणसी,आंध्रप्रदेश का विजयवाड़ा बिहार का आरा तथा महाराष्ट्र का नागपुर, गुजरात का वडनगर को सम्मिलित किया गया है। इस योजना से करीबन 9324 करोड़ यूनिट विधुत की बचत होगी। तथा प्रतिवर्ष 7.65 करोड़ टन कार्बन उत्सर्जन में न्यूनता आएगी। PM Gramin Ujala Yojana के अंतर्गत प्रतिवर्ष 50000 करोड़ रुपए की बचत होगी। इस योजना के लिए राज्य सरकार व केंद्र सरकार से किसी भी प्रकार का अनुदान नहीं लिया जाएगा। PM Gramin Ujala Yojana 2021 का सारा खर्च Energy Efficiency Services Limited (EESL) उठायेगी। कार्बन ट्रेडिंग के माध्यम से इस योजना की लागत की वसूली की जायगी।

यह भी देखे –>> PM Wani Yojana | Free WIfi Scheme

 Aim Of PM Gramin Ujala Yojana 2021

इस योजना का मुख्य उद्देश्य एनर्जी एफिशिएंसी को ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंचाना है। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक ग्रामीण परिवार को दस दस रुपए में एल ई डी बल्ब वितरीत किए जाएंगे। जिससे कि विधुत की खपत कम होगी और धन की बचत होगी। प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना के माध्यम से ग्रामीण इलाकों का विकास होगा। जिससे लोगो के जीवन स्तर में परिवर्तन आएगा। इस योजना के माध्यम से लोगो को एनर्जी एफिशिएंसी के बारे में जानने का अवसर प्राप्त होगा। 

PM Gramin Ujala Yojana

  PM Gramin Ujala Yojana 2021 key Features

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के प्रत्येक परिवार को ₹10 में एलईडी बल्ब वितरीत किए जाएंगे।

इस योजना के अंतर्गत 3 से 4 एलईडी बल्ब दिए जाएंगे।

पब्लिक सेक्टर की एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड द्वारा ग्रामीण उजाला योजना को लॉन्च किया गया ।

इस योजना को सुचारु रूप से आरा, नागपुर, वडनगर तथा वाराणसी,विजयवाड़ा में शुरू किया गया ।

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना को अप्रैल तक पूरे भारत में लागू कर दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना के माध्यम से 60 करोड़ एलईडी बल्ब 15 से 20 करोड़ लाभार्थियों को बांटे जाएंगे।

इस योजना के माध्यम से प्रतिवर्ष करीबन 9325 करोड़ यूनिट विधुत की बचत होगी।

इस योजना के माध्यम प्रतिवर्ष 7.65 करोड़ टन कार्बन उत्सर्जन में न्यूनता आएगी।

इस योजना के माध्यम से सालाना 50000 करोड रुपए की बचत होगी।

PM Gramin Ujala Yojana के अंतर्गत प्रतिवर्ष 50000 करोड़ रुपए की बचत होगी।

इस योजना के लिए राज्य सरकार व केंद्र सरकार से किसी भी प्रकार का अनुदान नहीं लिया जाएगा।

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना का सारा खर्च Energy Efficiency Services Limited (EESL) उठायेगी।

इस योजना में कार्बन ट्रेडिंग के माध्यम से लागत वसूली की जाएगी।

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों के लोगो को एनर्जी एफिशिएंसी के बारे में जानने का अवसर प्राप्त होगा।

इस योजना के माध्यम से लोगों के धन की बचत होगी।

यह भी देखे –>> Post Office Saving Scheme

Previous launch of the UJALA program

एनटीपीसी, पावर ग्रिड पीएफसी, आरईसी संयुक्त उद्यम कंपनी उजाला कार्यक्रम के तहत ₹70 प्रति बल्ब की दर से 36.50 करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब बाटे जा चुके है। जिनमें से केवल 20% बल्ब ही ग्रामीण इलाकों तक पहुंचे हैं। उजाला कार्यक्रम के अंतर्गत  एनर्जी एफिशिएंसी पंखे, ट्यूब लाइट, इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल,स्ट्रीट लाइट, स्मार्ट मीटर, EV चार्जिंग आदि को सम्मिलित किया गया है।