Pandit Dindayal Upadhyay Swayam Yojna 2021-महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना, ऑनलाइन आवेदन

Pandit Dindayal Upadhyay Swayam Yojna:-, ऑनलाइन आवेदन, दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना, दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना महाराष्ट्र, maharashtra deendayal upadhyay yojana, online apply in deendayal yojana, deendayal upadhayay swayam yojana, deen dayal swayam yojana maharashtra

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना
Pandit Dindayal Upadhyay Swayam Yojna 2021-महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना, ऑनलाइन आवेदन 4

Pandit Dindayal Upadhyay Swayam Yojna

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको महाराष्ट्र सरकार की एक शानदार योजना के बारे बताने जा रहे है। जिसका नाम है महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना । इस योजना का लाभ लेने के लिए इस लेख को पूरा पढ़े ध्यानपूर्वक। महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना का मुख्य उद्देश्य SC/ST/अल्पसंख्यक और अति पिछड़े वर्ग को उच्च शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना है। जिससे छात्र भी अपने सपनों को पूरा करने में कामियाब हो सकेंगे।

अक्सर देखा गया है कि कई छात्र घर की आर्थिक स्थिति के कारण उच्च शिक्षा मजबूरी की वजह से छोड़ देते है। ऐसे में राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली वित्तीय सहायता इन छात्रों को आगे पढ़ने के लिए प्रेरित करेगी। इस योजना की घोषणा स्वयं राज्य मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणीस ने की है।

LATEST UPDATE

स्वयं सहायता समूहों (SHG) को एक बड़ा बढ़ावा देने के रूप में, केंद्र सरकार ने दीनदयाल अंत्योदय योजना के अंतर्गत उन्हें ₹10 लाख से ₹20 लाख तक संपार्श्विक-मुक्त ऋण बढ़ाने का फैसला लिया है।
RBI ने अपने आधिकारिक संशोधित परिपत्र में निर्देश दिया कि SHG को ₹10 लाख से ज्यादा और ₹20 लाख तक के ऋण के लिए, कोई संपार्श्विक शुल्क नहीं लिया जाना चाहिए और SHG के बचत बैंक खाते के खिलाफ कोई ग्रहणाधिकार चिह्नित नहीं किया जाना चाहिए।

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना

ये योजना राज्य के ST/SC/अल्पसंख्यक और अति पिछड़े वर्ग को उच्च शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। महाराष्ट्र में आदिवासी छात्रों के लिए ‘दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना’ की बेहतरीन शुरुआत की जा रही है। जिसके तहत राज्य सरकार उन छात्रों को वित्तीय सहयोग देगी जो पढ़ाई में काबिल होने के बावजूद नियमित आय होने के कारण उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते। इस ख़ास योजना का शुभारंभ महाराष्ट्र राज्य सरकार की सामाजिक न्याय और कल्याण मंत्रालय द्वारा किया गया है।

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना के तहत कोई भी विद्यार्थी महाराष्ट्र राज्य समेत भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से उच्च शिक्षा के लिए लाभान्वित हो सकता है। प्रत्येक छात्र को, तकनीकी, व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के अलावा अन्य पाठ्यक्रमों में अपनी पढ़ाई के लिए राज्य सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। योजना के अंतर्गत उच्च शिक्षा के लिए महाराष्ट्र के मेधावी आदिवासी छात्रों को वित्तीय सहायता दी जाएगी।

ये योजना ख़ासतौर से अनुसूचित आदिवासी समुदायों के लिए शुरु की गई है, जो कि आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग की श्रेणी में आते है।योजना के अधीन एक तरह से आदिवासी छात्रों को छात्रवृत्ति के रुप में वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी, जिससे उच्च शिक्षा में उनकी दर में वृद्धि हो सके। इस योजना के जरिए आदिवासी समुदायों को शिक्षा के माध्यम से रोजगार और सशक्तीकरण को बढ़ाने के साथ सामाजिक-आर्थिक स्थितियों में बेहतर अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे।

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना की पात्रता

  1.  उम्मीदवार महाराष्ट्र राज्य का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
  2. वह SC/ST/ OBS जनजाति एवं आदिवासी समुदाय से संबंधित होना चाहिए।
  3. बोर्ड/ विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित पूर्ववर्ती परीक्षा में अभ्यर्थी को कुल अंक में से कम से कम 60 प्रतिशत अंक सुरक्षित करना जरुरी है।

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना वित्तीय सहायता

  • Tier 1 cities: Rs/- 6000 per month
  • Tier 2 cities: Rs/- 5000 per month
  • Tier 3 cities: Rs/- 4000 per month

जिन मेडिकल छात्रों की पारिवारिक आय प्रतिवर्ष 2.5 से 6 लाख के बीच है और जिन्होंने शिक्षा ऋण लिया है, सरकार उनके द्वारा लिए गए ऋण के हित का भुगतान करेगी।

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना जरुरी दस्तावेज़

  • जाति प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • मूल निवासी प्रमाण पत्
  • नॉन क्रीमी लेयर प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • स्कूल मार्क शीट्स
  • स्कूल सर्टिफिकेट
  • बोनफाइड प्रमाण पत्र
  • बैंक विवरण में डाली जानें वाली जानकारी
  • आईएफएससी कोड
  • एनआईसीआर कोड
  • खाता संख्या
  • खाता धारक
  • धारक का नाम
  • शाखा का नाम

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजनाONLINE APPLY.

STEP-1: इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करें।

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना

STEP-2: इएप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गई जानकारी ध्यानपूर्वक भरिए।

STEP-3: इसबमिट बटन पर क्लिक करिए।

STEP-4: इआप का फॉर्म भरा हुआ माना जाएगा।

अगर आपको कोई समस्या आ रही है तो आप डिपार्टमेंट को मेल कर सकते है। Mail ID: n tddhostelhelp@gmail.com यह है।

आशा करता हु महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना की जानकारी आपको अच्छी लगी हो और आप इसका लाभ ले सकेंगे अब। भारत सरकार की सभी योजनाओ के लिए बने रहे हमारे साथ।

यह सब कुछ आज आपने इस लेख के जरिये जाना है। उम्मीद है यह लेख आपके लिए लाभदायक रहा होगा। अगर आपको इस लेख में कुछ समझ नहीं आया हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है। हमारे इस लेख को अपने दोस्तों,रिश्तेदारों,इत्यादि तक शेयर करना न भूले। मैं प्रदीप सिंह आपका तहे दिल से शुक्रिया करता हूँ। कि आपने हमारे लेख को पूरा पढ़ा । और आपने अपना कीमती समय इसे पढ़ने में लगाया। एक बार फिर से दिल से धन्यावद !

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना क्या है?

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना का मुख्य उद्देश्य SC/ST/अल्पसंख्यक और अति पिछड़े वर्ग को उच्च शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना है। जिससे छात्र भी अपने सपनों को पूरा करने में कामियाब हो सकेंगे।

महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना के जरुरी दस्तावेज़?

  1. जाति प्रमाण पत्र
  2. पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  3. मूल निवासी प्रमाण पत्र
  4. नॉन क्रीमी लेयर प्रमाण पत्र
  5. आय प्रमाण पत्र
  6. निवास प्रमाण पत्र
  7. आधार कार्ड
  8. स्कूल मार्क शीट्स
  9. स्कूल सर्टिफिकेट
  10. बोनफाइड प्रमाण पत्र
  11. बैंक विवरण में डाली जानें वाली जानकारी
  12. आईएफएससी कोड
  13. एनआईसीआर कोड
  14. खाता संख्या
  15. खाता धारक
  16. धारक का नाम
  17. शाखा का नाम

ऑनलाइन आवेदन कैसे करे महाराष्ट्र दीनदयाल उपाध्याय स्वयं योजना के लिए?

इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करें।

  1. एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गई जानकारी ध्यानपूर्वक भरिए।
  2. सबमिट बटन पर क्लिक करिए।
  3. आप का फॉर्म भरा हुआ माना जाएगा।