Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana 2021। कक्षा 10वीं तथा 12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर ₹100000 प्रोत्साहन राशि

Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana। Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana 2021।कक्षा 10वीं तथा 12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर ₹100000 प्रोत्साहन राशि

Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana 2021

राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों के बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने हेतु समय-समय पर कई योजनाएं शुरू की जाती है। राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिक वर्ग के परिवारों के छात्र-छात्राओं को कक्षा दसवीं तथा कक्षा 12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर सरकार के द्वारा ₹4000 तथा ₹6000 की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती थी। राजस्थान श्रमिक छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा कुछ बदलाव किए गए हैं। इस योजना के अंतर्गत राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा कक्षा दसवीं तथा कक्षा 12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को 6000 या ₹4000 की वित्तीय सहायता के बजाय ₹100000 की वित्तीय सहायता राशि छात्रवृत्ति के रूप में प्रदान की जाएगी।

Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana । राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा प्रोत्साहन योजना

राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों के परिजनों को लाभान्वित करने हेतु इस योजना की शुरुआत की गई है।राजस्थान श्रम विभाग के द्वारा राज्य के पंजीकृत श्रमिकों के कल्याण हेतु विभिन्न जनकल्याण योजनाएं चलाई जा रही है। वर्तमान में राज्य सरकार के द्वारा छह नई योजनाओं की अधिसूचना जारी की गई है। इस योजना के अंतर्गत निर्माण श्रमिक एवं उनकी आश्रित बच्चों द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए आयोजित प्रारंभिक परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने पर सरकार के द्वारा ₹100000 राजस्थान प्रशासनिक सेवा के द्वारा आयोजित परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने पर ₹50000 की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा योजना के अंतर्गत राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों के बच्चों का IIT /IIM में प्रवेश लेने पर ट्यूशन फीस का पुनर्भरण भी किया जाएगा ।निर्माण श्रमिकों के बच्चों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली खेलकूद प्रतियोगिताओं में भाग लेने या पदक जीतने पर प्रतिभागियों को ₹200000 से लेकर ₹1100000 की प्रोत्साहन राशि राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा प्रदान की जाएगी। इसके अलावा राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों के बच्चों को विदेशों में रोजगार मिलने पर वीजा जारी होने पर अधिकतम ₹5000 का खर्च भी सरकार के द्वारा उठाया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत वित्तीय संस्थानों के द्वारा श्रमिकों के बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने हेतु अधिकतम ₹500000 का लोन 1% ब्याज दर पर उपलब्ध करवाया जाएगा।

Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana Aim

आप सभी इस बात से भलीभांति परिचित होंगे कि हमारे देश में कई ऐसे श्रमिक है जिनकी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण उनके बच्चे उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते हैं ।इसी समस्या को मध्य नजर रखते हुए राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य श्रमिक वर्ग के बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करना है।

यह भी देखे –>> Rajasthan Krishi Upaj Rehan Yojana

Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana Key Features

राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों के परिजनों को लाभान्वित करने हेतु इस योजना की शुरुआत की गई है।

वर्तमान में राज्य सरकार के द्वारा छह नई योजनाओं की अधिसूचना जारी की गई है।

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा योजना के अंतर्गत राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा कक्षा दसवीं तथा कक्षा 12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं ₹100000 की वित्तीय सहायता राशि छात्रवृत्ति के रूप में प्रदान की जाएगी।

इस योजना के अंतर्गत निर्माण श्रमिक एवं उनकी आश्रित बच्चों द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए आयोजित प्रारंभिक परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने पर सरकार के द्वारा ₹100000 व राजस्थान प्रशासनिक सेवा के द्वारा आयोजित परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने पर ₹50000 की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा योजना के अंतर्गत राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों के बच्चों का IIT /IIM में प्रवेश लेने पर ट्यूशन फीस का पुनर्भरण भी किया जाएगा ।

निर्माण श्रमिकों के बच्चों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली खेलकूद प्रतियोगिताओं में भाग लेने या पदक जीतने पर प्रतिभागियों को ₹200000 से लेकर ₹1100000 की प्रोत्साहन राशि राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा प्रदान की जाएगी।

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा योजना के अंतर्गत राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों के बच्चों को विदेशों में रोजगार मिलने पर वीजा जारी होने पर अधिकतम ₹5000 का खर्च भी सरकार के द्वारा उठाया जाएगा।

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा योजना के अंतर्गत वित्तीय संस्थानों के द्वारा श्रमिकों के बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने हेतु अधिकतम ₹500000 का लोन 1% ब्याज दर पर उपलब्ध करवाया जाएगा।

Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana Required Documents

आधार कार्ड

कक्षा दसवीं तथा कक्षा 12वीं की अंक तालिका

शिक्षण संस्थान के प्रधान का प्रमाण पत्र

हिताधिकारी पंजीयन परिचय पत्र

श्रमिक कार्ड 

भामाशाह कार्ड

बैंक अकाउंट पासबुक

यह भी देखे –>> Emitra Khole Online Apply

Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana Application Procedure

सबसे पहले आवेदक को इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा ।

Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana

आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आवेदक को BOCW सेक्शन में स्कीम का लिंक दिखाई देगा ।आवेदक को इस लिंक पर क्लिक करना होगा ।

अब आवेदक के सामने सभी योजनाओं की सूची खुल जाएगी। आवेदक को इस सूची में निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना का लिंक दिखाई देगा ।

अब आवेदक को के सामने श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना का आवेदन पत्र पीडीएफ खुल जाएगा। आवेदक को इस आवेदन पत्र की पीडीएफ को डाउनलोड करना होगा।

Nirman Shramik Shiksha Protsahan Yojana

आवेदन पत्र डाउनलोड करने के पश्चात आवेदक को आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारी ध्यान पूर्वक दर्ज करनी होगी।

सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करने के पश्चात आवेदक को सभी आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करना होगा।

अब आवेदक को इस आवेदन पत्र को श्रम विभाग कार्यालय में जाकर जमा करवाना होगा।

 

निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना क्या है?

निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना के अंतर्गत राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिक वर्ग के परिवार के बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने हेतु छात्रवृत्ति के रूप में आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना के अंतर्गत कक्षा दसवीं तथा कक्षा 12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर सरकार के द्वारा कितनी प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी?

राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों के बच्चों के कक्षा दसवीं तथा 12वीं के छात्र छात्राओं को ₹100000 की वित्तीय सहायता राशि प्रथम स्थान प्राप्त करने पर प्रोत्साहन राशि के रूप में प्रदान की जाएगी।

इस योजना के अंतर्गत खेल परियोजनाओं में हिस्सा लेने या पदक प्राप्त करने पर श्रमिक छात्रों को कितनी प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी?

इस योजना के अंतर्गत खेल परियोजनाओं में हिस्सा लेने या पदक प्राप्त करने पर श्रमिक वर्ग के छात्र-छात्राओं को ₹200000 से लेकर ₹1100000 की प्रोत्साहन राशि वित्तीय सहायता राशि के रूप में प्रदान की जाएगी।