Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana 2021: बिना प्रीमियम दिए मुआवजा मिलेगा

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana 2021 । Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana । Gujarat Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana 2021 । Gujarat Kisan Sahay Yojana । Kisan Sahay Yojana । Kisan Sahay Yojana 2021 ।मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना । मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना 2021 । किसान सहाय योजना। गुजरात मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना । गुजरात किसान सहाय योजना

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana 2021

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी जी ने 10 अगस्त 2021 को राज्य के किसानों के लिए नई योजना मुख्यमंत्री Kisan Sahay Yojana की घोषणा की। इस योजना के अंतर्गत सूखे, अत्याधिक बारिश या बेमौसम बारिश के कारण फसल को होने वाले नुकसान के लिए किसानों को बिना प्रीमियम दिए मुआवजा मिलेगाKisan Sahay Yojana योजना से गुजरात राज्य के 56 लाख किसान लाभान्वित होंग। राज्य सरकार द्वारा प्रत्येक किसान को अधिकतम 1 लाख रुपए क का मुआवजा दिया जाएगा।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana। मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गांधीनगर में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि “राज्य के 56 लाख किसानों के लिए सरकार जीरो प्रीमियम पर यह फसल बीमा की सुविधा प्रदान कर रही है।गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी जी ने बताया कि, इस बार राज्य सरकार गुजरात में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) की जगह मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना लागू कर रहे हैं, क्योंकि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत बीमा कंपनियों ने किसानो से बहुत ज्यादा प्रीमियम की मांग की थी।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana 

जून से नवंबर के बीच बाढ़ या बेमौसम बारिश की कारण किसानों की खरीफ की फसल कई बार बर्बाद होती है इसके लिए राज्य सरकार किसानो को चार हेक्टेयर की फसल का मुआवजा देगी। इस योजना के अंतर्गत 60 प्रतिशत तक के फसल के नुकसान पर प्रति हेक्टेयर 20 हजार रुपए का मुहावजा और 60 प्रतिशत से अधिक के नुकसान के लिए 25 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अधिकतम चार हेक्टेयर के लिए हर्जाना दिया जाएगा

मुख्यमंत्री रूपाणी ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना (PMFBY) के तहत औसतन 1800 करोड़ रुपए का प्रीमियम भरना होता है, लेकिन इस बार बीमा कंपनियों ने 4500 करोड़ रुपए का प्रीमियम मांगा था। इस लिए हमने अपनी स्कीम लॉन्च की, इसके लिए किसानों को कोई प्रीमियम नहीं देना होगा। उन्हें बिना प्रीमियम दिए 1 लाख रूपये तक का फसल बीमा दिया। इस योजना में खरीफ फसल को शामिल किया जाएगा। इसके अतिरिक्त यदि प्राकृतिक आपदा की वजह से फसले नष्ट होती है तो किसान State Disaster Response Fund के तहत भी मुआवजे के लिए किसान आवेदन कर सकते है।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana 2021 Aim

प्राकर्तिक आपदाओं के कारण किसानो की फसलों को काफी नुकसान होता है ख़ासतौर पर खरीफ़ के मौसम में बारिश में अनियमितता की वजह से गुजरात में किसानों को आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ता है। इसी समस्या को मद्देनज़र रखते हुए राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री Kisan Sahay Yojana की शुरुआत है। इस योजना के तहत प्राकृतिक आपदाओं जैसे बे मौसम बारिश ,बाढ़ आदि के कारण किसानो की फसलों को होने वाले नुकसान की स्थिति में राज्य सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ।

Click Here–>>> Gujrat Scholarship Scheme

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana Key Features

मुख्यमंत्री Kisan Sahay Yojana का लाभ गुजरात के किसानो को प्रदान किया जायेगा।

गुजरात राज्य सरकार द्वारा राज्य के जिन किसानो की फसलों का प्राकर्तिक आपदाओं जैसे सूखा या अधिक बारिश या बेमौसम बारिश, बाढ़ आदि के कारण नुकसान होने पर मुआवज़ा प्रदान किया जायेगा।

✍  इस योजना के तहत 60 % तक प्राकर्तिक आपदाओं के कारण हुए नुकसान में राज्य सरकार द्वारा एक किसान को अधिकतम चार हेक्टेयर के लिए प्रति हेक्टेयर 20,000 रुपये का मुआवज़ा दिया जायेगा।

✍ यदि इस योजना के तहत 60 प्रतिशत से अधिक की किसान की फसल का नुकसान होने पर राज्य सरकार द्वारा अधिकतम चार हेक्टेयर के लिए किसान को 25,000 रुपये प्रति हेक्टेयर मुआवज़ा प्रदान कराया जायेगा।

Kisan Sahay Yojana के तहत ख़ासतौर पर खरीफ़ के मौसम में बारिश में अनियमितता के कारण फसलों के होने वाले नुकसान की भरपाई राज्य सरकार द्वारा की जाएगी।

इसके अतिरिक्त यदि प्राकृतिक आपदा की वजह से फसले नष्ट होती है तो किसान State Disaster Response Fund के तहत भी मुआवजे के लिए किसान आवेदन कर सकते है।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का लाभ पूरे राज्य के लगभग 56 लाख किसानों को प्रदान किया जाएगा।

इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानो को किसी भी प्रीमियम का भुगतान नहीं करना होगा।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana Required Document (Eligibility Criteria)

आवेदक गुजरात राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।

इस योजना के तहत प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों के नुकसान के मामले में किसान राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष के अतिरिक्त मुआवजा पाने के लिए भी पात्र होंगे।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के तहत राज्य भर में राजस्व रिकॉर्ड में पंजीकृत सभी 8-ए धारक किसान खाताधारक और वन अधिकार अधिनियम के तहत मान्यता प्राप्त किसानों को भी इस योजना के तहत लाभान्वित किया जायेगा।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना खरीफ 2021 में लागू की जाएगी।

आधार कार्ड

पहचान पत्र

निवास प्रमाण पत्र

मोबाइल नंबर

पासपोर्ट साइज फोटो

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana Apply Online

गुजरात मुख्यमंत्री Kisan Sahay Yojana हाल ही में शुरू की गयी है अभी तक इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने हेतु ऑनलाइन पोर्टल को लॉन्च नहीं किया गया है। मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया के लिए जल्द ही एक आधिकारिक पोर्टल लॉन्च किया जायेगा । हम आपके हमारे इस लेख के माध्यम से आवेदन प्रक्रिया शुरू होने की सुचना जल्दी दे देंगे।

For More Details Click Here, Link 2

गुजरात मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना क्या है ?

इस योजना के अंतर्गत सूखे, अत्याधिक बारिश या बेमौसम बारिश के कारण फसल को होने वाले नुकसान के लिए किसानों को बिना प्रीमियम दिए मुआवजा मिलेगा।

इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा किसानो को कितना मुहावजा दिया जायेगा?

इस योजना के अंतर्गत 60 प्रतिशत तक के फसल के नुकसान पर प्रति हेक्टेयर 20 हजार रुपए का मुहावजा और 60 प्रतिशत से अधिक के नुकसान के लिए 25 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अधिकतम चार हेक्टेयर के लिए हर्जाना दिया जाएगा।

इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

क्योंकि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत बीमा कंपनियों ने किसानो से बहुत ज्यादा प्रीमियम की मांग की थी।