Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ

Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana | मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना ऑनलाइनआवेदन | उत्तर प्रदेश कृषक दुर्घटना कल्याण स्कीम आवेदन फॉर्म | उत्तर प्रदेश कृषक दुर्घटना कल्याण योजना की पात्रता | मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ – [Apply Online] Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana 2021 | Online Registration | Application Form | Eligibility | Features, Benefits | Check Online Application Status at Official Website Not Available.

मुख्यमंत्री “कृषक दुर्घटना कल्याण योजना” उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा शुरू की गई है। यह योजना किसानों के लिए काफी लाभकारी साबित होने वाली है। इस योजना में जिन किसान भाइयों की दुर्घटना हो जाती है उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार सामाजिक सुरक्षा प्रदान करेगी। यूपी मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के अंतर्गत यदि किसान की दुर्घटना में मृत्यु हो जाती हैं तो उन्हें सरकार द्वारा उनके परिवार को ₹5 लाख तक का मुआवजा दिया जाएगा और अगर 60% से अधिक अगर दिव्यांगता हो जाती है तो कृषक के परिवार को ₹2 लाख तक की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana

Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana 2021

Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan

  • योजना का नाम
  • इनके द्वारा शुरू की गयी
  • उद्देश्य
  • ऑफिसियल वेबसाइट

Yojana 2021 Highlights

  • मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी 
  • राज्य के किसानो को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना
  • लांच नहीं हुई

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना की शुरुवात

उत्तर प्रदेश के किसानों को सामाजिक सुरक्षा एवं लाभ पहुंचाने के लिए इस योजना को 21 जनवरी 2020 को लखनऊ में मंजूरी दी गई थी। इस योजना का संचालन जिला अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है। मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021 के अंतर्गत जो भी किसान भाई 14 सितंबर 2019 के बाद किसी भी दुर्घटना के शिकार हुए हैं तो उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा। इस योजना का लाभ लगभग दो करोड़ किसानों को दिया जाएगा। अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के अंतर्गत जो भी लाभार्थी इस योजना के पात्र हैं उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा। इस योजना का लाभ उठाने के लिए कुछ शर्ते हैं जैसे कि कृषक का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है और उनकी मुख्य कमाई खेती से होनी चाहिए एवं किसान की आयु 18 से 70 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

यदि कोई किसान किसी दूसरे की जमीन पर खेती करता है और अगर उसकी दुर्घटना के कारण मृत्यु हो जाती है या दुर्घटना से दिव्यांग हो जाता है तब भी उसे मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना का लाभ मिलेगा।

उत्तर प्रदेश कृषक दुर्घटना कल्याण स्कीम ऑनलाइन आवेदन

यदि किसी खातेदार किसान की मृत्यु दुर्घटना में हो जाती है तो उनके परिवार को इस योजना का लाभ दिया जाएगा। जो भी कृषक इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें सबसे पहले इसके लिए आवेदन करना होगा। उत्तर प्रदेश कृषक दुर्घटना कल्याण योजना का कार्य ऑनलाइन तरीके से किया जाएगा जिससे कि योजना के अंदर पूरी पारदर्शिता रहे और कोई रिश्वतखोरी ना हो। इसके साथ-साथ ऑफलाइन आवेदन भी स्वीकार किए जाएंगे। इस योजना में बटाईदार भी शामिल होंगे जो अन्य व्यक्तियों के साथ खेती में काम करते हैं और फसल कटने के बाद फसल को साझा करते हैं।

Main Aim of Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana

वैसे तो किसानों की आजीविका पूरी कृषि पर ही निर्भर रहती है और अगर इसके बीच किसी किसान की दुर्घटना हो जाए और उसकी मृत्यु हो जाती है। तो किसान के परिवार को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। और उनके आजीविका पर भी खतरा बन जाता है। इसी समस्या को देखते हुए योगी सरकार ने इस योजना को शुरू किया है। इस मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना योजना के तहत यदि किसी किसान की दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है तो उनके परिवार को उत्तर प्रदेश सरकार ₹5 लाख तक का मुआवजा प्रदान करेगी। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश राज्य के सभी किसानों को कवर किया जाएगा। उत्तर प्रदेश कृषक दुर्घटना कल्याण योजना में आकस्मिक मृत्यु या विकलांगता से पीड़ित सभी किसानों को मुआवजा दिया जाएगा।

यूपी कृषक दुर्घटना कल्याण योजना में कौन-कौन सी दुर्घटनाये शामिल की गयी है।

आग लगने, बाढ़, बिजली गिरने, करंट लगने
सर्पदंश , जीव-जंतु व जानवर के काटने, मारने व आक्रमण से
हत्या ,आतंकवादी हमला ,लूट , डकैती , मारपीट में हुई वाली दुर्घटना
समुद्र, नदी, झील, तालाब, पोखर व कुएं में डूबने से
रेल ,सड़क और हवाई यात्रा के दौरान होने वाली दुर्घटना
आंधी-तूफान, वृक्ष से गिरने, दबने व मकान गिरने
आकाश से बिजली गिरने , आग लगने , बाढ़ आदि में होने वाली दुर्घटना
सीवर चैंबर में गिरना

Krishak Durghatna Kalyan Yojana 2021 में दी जाने वाली सहायता धनराशि का विवरण

अगर दोनों हाथ या दोनों पैर या दोनों आंख की क्षति होने पर – 100 प्रतिशत वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी
अगर एक हाथ तथा पैर की क्षति हो जाती है तो – 100 प्रतिशत वित्तीय सहायता
इसके अलावा एक आंख ,एक पैर अथवा एक पैर की क्षति होने पर – 50 प्रतिशत
अगर दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है या पूर्ण शारीरिक अक्षमता हो जाती है तो – 100 प्रतिशत
स्थायी दिव्यांगता 50 प्रतिशत से अधिक लेकिन 100 प्रतिशत से कम – 50 प्रतिशत
ऐसी स्थायी विकलांगता जो 25 % से अधिक है लेकिन 50 % से कम – 25 प्रतिशत

Uttar Pradesh Krishak Durghatna Kalyan Scheme की पात्रता

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान भाई उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए।
जिन किसानो की आयु 18 से 70 वर्ष के बीच होगी उन्हें ही इस योजना का लाभ दिया जायेगा
प्रदेश की खतौनी में दर्ज खातेदार /सह खातेदार जो दुर्घटना में मृत्यु अथवा विकलांगता के शिकार हो जाते है उनके माता पिता ,पति पत्नी ,पुत्र पुत्री , पुत्र वधु , पौत्र पोत्री, जिनकी आजीविका का प्रमुख साधन खातेदार /सह खातेदार की दर्ज कृषि भूमि से चलती है वह इस योजना के तहत पात्र मने जायेंगे ।
इसके अलावा ऐसे किसान जिनके पास स्वय की भूमि नहीं है तथा वह बटाई अथवा पटटे पर खेती करते है इस इस्थिति में उनके आश्रितों को भी कृषक दुर्घटना कल्याण योजना का लाभ दिया जायेगा ।

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना में आवेदन कैसे करे?

उत्तर प्रदेश राज्य के जो भी कृषक के मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें इसके लिए आवेदन करना होगा। लेकिन अभी सभी कृषक भाइयों को इंतजार करना होगा क्योंकि अभी इस योजना को पूरी तरीके से शुरू नहीं किया गया है जैसे ही इस योजना को पूरी तरीके से शुरू कर दिया जाएगा और आवेदन के लिए ऑनलाइन वेबसाइट लांच कर दी जाएगी। तब आपको इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करने होंगे। इसके अलावा मैन्युअल आवेदन भी शुरू किए जाएंगे। जो लोग ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं वह भी आवेदन कर सकेंगे। इसके अलावा अगर कोई भी अपडेट आता है तो इस पेज के जरिए आपको अवगत करा दिया जाएगा धन्यवाद।