Khelo India Scheme | खेलों इंडिया योजना

khelo India scheme | khelo india yojana | khelo india youth games | khelo india | khelo india news | khelo india 2021

Khelo India Scheme  खेलों इंडिया योजना
Khelo India Scheme | खेलों इंडिया योजना 3

Khelo India Scheme:- नमस्कार दोस्तों आज हम आपको खेलो इंडिया स्कीम के बारे में विस्तार से बताने जा रहे है। इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़े और उठाये इस स्कीम का फायदा।

2020 खेलों इंडिया यूथ गेम्स के तीसरे संस्करण का समापन गुवाहाटी में हो गया है। इसका आयोजन 10 जनवरी, 2020 से 22 जनवरी, 2020 के दौरान किया गया।

खेल भारत की जान है। भारत में तरह तरह के खेल खेले जाते है। जैसे की खो खो, कबड्डी, कुश्ती , क्रिकेट , वॉलीबॉल आदि खेल खेले जाते है। खेल की प्रतिस्पर्धा बढ़ने और युवा वर्ग की रूचि जाग्रत करने के भारत सरकार ने खेलो इंडिया योजना शुरी करि है। ताकि भारत में भी खेलो की तरफ रुझान बड़े और ओलंपिक्स और एशिया के खेलो में गोल्ड मैडल जीते। भारत में अभी तक सबसे ज्यादा हरयाणा के खिलाडी गोल्ड मैडल लाते है। हरयाणा की तरह ही भारत के हर राज्य में खेलो के प्रति लगाव जगाने के लिए सरकार भरसक प्रयास कर रही है।

Khelo India Scheme

मुख्य बिंदु

👉 खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2020 में महाराष्ट्र ने सर्वाधिक 256 पदक जीते, इसमें 78 स्वर्ण पदक भी शामिल हैं। सर्वाधिक पदक जीतने के लिए महाराष्ट्र ने चैंपियंस ट्राफी भी अपने नाम की। पदक जीतने के मामले में हरियाणा 200 पदकों के साथ दूसरे स्थान पर है। दिल्ली 122 पदक जीत कर तीसरे स्थान पर रहा।

खेलो इंडिया यूथ गेम्स

👉 केन्द्रीय खेल मंत्रालय ने खेलो इंडिया स्कूल गेम्स के दायरे को बढ़ाकर बड़ा कर दिया है, इन खेलों में अब दो श्रेणियों, अंडर 17 और अंडर 21 में प्रतिभागी हिस्सा ले सकते हैं। इसमें कॉलेज और विश्वविद्यालय के खिलाड़ी भी हिस्सा ले सकते हैं। इन खेलों में 29 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों से 10,000 से अधिक खिलाड़ी हिस्सा ले सकते हैं।

👉 खेल हमारे राष्ट्र के समग्र विकास के लिए एक अत्यंत महत्वपूर्ण घटक है। भारत ने पिछले कुछ वर्षों में खेल के क्षेत्र में लगातार प्रगति की है। इस जबरदस्त क्षमता को वैश्विक मंच पर दिखाने की जरूरत है। यह समय है जब हम युवा प्रतिभाओं को प्रेरित करते हैं, उन्हें सर्वोच्च स्तर का बुनियादी ढांचा और प्रशिक्षण देते हैं। हमें खेल में भागीदारी की एक मजबूत भावना को विकसित करने की आवश्यकता है जो खिलाड़ियों को उनकी वास्तविक क्षमता का प्रदर्शन करने में सक्षम बनाता है। तभी भारत खेल महाशक्ति बनने के अपने सपने को साकार कर सकता है।

खेलो इंडिया कार्यक्रम

👉 इसकी शुरुआत केन्द्रीय खेल व युवा मामले मंत्रालय द्वारा देश में खेल संस्कृति को पुनर्जीवित करने के लिए की थी। इसका उद्देश्य देश में खेले जाने वाले सभी खेलों को बढ़ावा देना तथा भारत को एक मज़बूत खेल राष्ट्र के रूप में तैयार करना है। इस कार्यक्रम से युवा खिलाड़ियों को अपने कौशल को बेहतर करने तथा अपने कौशल का प्रदर्शन करने का मौका मिलेगा। इन खेलों में प्रतिभावान खिलाड़ियों को चिन्हित किया जायेगा तथा प्रत्येक चुने गये खिलाड़ी को 8 वर्षों के लिए 5 लाख रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी।

👉 किसी के जीवन में खेल और फिटनेस का महत्व अमूल्य है। खेल खेलने से टीम की भावना बढ़ती है, रणनीतिक और विश्लेषणात्मक सोच, नेतृत्व कौशल, लक्ष्य निर्धारण और जोखिम लेना विकसित होता है। एक फिट और स्वस्थ व्यक्ति एक समान रूप से स्वस्थ समाज और मजबूत राष्ट्र की ओर जाता है।

👉 हमारे देश में खेले जाने वाले सभी खेलों के लिए एक मजबूत ढांचा तैयार करके भारत में खेल संस्कृति को पुनर्जीवित करने के लिए खेलो इंडिया कार्यक्रम की शुरुआत की गई है और भारत को एक महान खेल राष्ट्र के रूप में स्थापित किया गया है।

👉 उच्च-संचालित समिति द्वारा विभिन्न स्तरों पर प्राथमिकता वाले खेल विषयों में पहचाने जाने वाले प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को 8 वर्षों तक प्रति वर्ष 5 लाख रुपये की वार्षिक वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

👉 खेलो इंडिया स्कूल गेम्स, जो कि खेलो इंडिया कार्यक्रम का एक हिस्सा है, 31 जनवरी से 8 फरवरी, 2018 तक नई दिल्ली में आयोजित किया जा रहा है। अंडर -17 एथलीटों को 16 विषयों में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है, जो इस प्रकार हैं: तीरंदाजी, एथलेटिक्स, बैडमिंटन, बास्केटबॉल, मुक्केबाजी, फुटबॉल, जिमनास्टिक्स, हॉकी, जूडो, कबड्डी, खो-खो, शूटिंग, तैराकी, वॉलीबॉल, भारोत्तोलन और कुश्ती।

अधिक जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करे

khelo india scheme से जुडी सभी जानकारिया आज हमने आपको बताई। अगर khelo india scheme से जुडी कोई भी चीज़ आपको पूछनी हो तो comment में बताये। पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले। धन्यवाद पोस्ट पढ़ने के लिए।