Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Yojana 2021 : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लाभ व विशेषता

Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Scheme 2021। Objective of Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Scheme। Benefits and features of Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Yojana 2021। Eligibility and important documents of Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Scheme। Procedure to apply in Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme

Jharkhand Cyber ​​Crime 2021 – देश की महिलाओ और बच्चो को बढ़ते साइबर अपराधों से बचने के लिए 17 दिसंबर 2020 से एक योजना शुरू किया गया था। उस योजना का नाम है झारखंड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना। इस योजना के तहत राज्य के बच्चो और महिलाओ को साइबर अपराध से बचने के लिए हर साल ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी। जिससे वह होने वाले अपराध से बच सकेंगे। इस आर्टिकल के माध्यम से आपको झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के बारे में कुछ जानकारी देने जा रहे है जैसे की झारखंड साइबर क्राईम प्रीवेंशन योजना क्या है?, इसके लाभ, उद्देश्य, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। परन्तु आप यह जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस आर्टिकल को अंत तक ध्यान पूर्वक पढ़े।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021। Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Scheme 2021

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना का आरंभ झारखण्ड सरकार द्वारा 17 दिसंबर 2020 को किया गया था। इस योजना के माध्यम से झारखण्ड सरकार द्वारा महिलाओ और बच्चो को साइबर क्राइम से बचाने का प्रयास किया जाएगा। झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021 के माध्यम से ऑनलाइन साइबर अपराध पंजीकरण, क्षमता निर्माण, जागरूकता निर्माण और अनुसंधान तथा विकास इकाइयां शुरू करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। आपको बता दे कि पिछले 5 वर्षो से अब तक झारखण्ड में कम से कम 4803 साइबर अपराध सामने आए है।

Jharkhand Cyber ​​Crime
Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Yojana 2021 : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लाभ व विशेषता 5

जिसमे पुलिस के द्वारा 1536 मामलो को निपटारा किया गया है। इसके चलते 1 महीने में 355 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है और अब भी काफी ऐसे अपराधी हैं जो सामने नहीं आ पाए हैं। इस समस्या को देखते हुए सरकार द्वारा झारखण्ड साइबर अपराध निरोधक योजना शुरु की गयी है। इस योजना के तहत निर्णय लिया गया है कि राज्यव्यापी विभिन्न स्कूलों के छात्रों को सामुदायिक पुलिसिंग की ट्रेनिंग प्रदान की जाए। जिससे भविष्य में होने वाले अपराधों से वह स्वयं लड़ पाए। 

The offences currently being investigated in the Cyber Crime Police Station are as follows:

  • Unauthorized access & Hacking
  • Trojan Attack
  • Virus and Worm attack
  • Denial of Service attacks
  • Forgery
  • IPR Violations
  • Cyber Terrorism
  • Banking/Credit card Related crimes
  • E-commerce/ Investment Frauds
  • Cyber Stacking
  • Identity Theft
  • Data diddling
  • Source code theft
  • Tampering with Computer Source documents
  • Social media abuse may result in serious consequences
  • Complicated Cyber offenses done through Smartphones
  • Pornography
  • Breach of Privacy and Confidentiality and other computer-related crimes
  • E-mail related crimes: (a. Email spoofing, b. Email Spamming, c. Email bombing, d. Sending threatening emails, e. Defamatory emails, f. Email frauds)

Key Highlights Of Jharkhand Cyber Crime Prevention Yojana 2021

योजना का नाम (Name of yojana) झारखंड साइबर क्राईम प्रीवेंशन योजना
किस ने लांच की ( Launched By) झारखंड सरकार
लाभार्थी (Beneficiary) झारखंड के नागरिक
उद्देश्य ( Objectives) साइबर क्राइम को रोकना
आधिकारिक वेबसाइट (Official Website) जल्द लॉन्च की जाएगी
साल (Year) 2021

झारखंड साइबर क्राईम प्रीवेंशन योजना का उद्देश्य । Objective of Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Scheme

झारखण्ड साइबर क्राइम पेंशन योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि झारखण्ड राज्य में साइबर अपराद के मामले लगातार बढ़ते जा रह है। `इस बात को ध्यान रखते हुए सरकार द्वारा झारखण्ड साइबर क्राइम पेंशन योजना को आरंभ किया गया है इस योजना के माध्यम से बच्चो आवारा महिलाओ को कंप्यूटिंग पुलिसिंग की ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी जिससे ट्रेनिंग प्राप्त करने के बाद बच्चे और महिलाएं स्वयं को साइबर अपराध से बचा सकेंगे। इस योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त किए बच्चे पुलिस की साइबर सेल मदद भी कर सकते हैं।

Jharkhand Cyber Crime

Important Links

ServicesInfo
Name of SchemeJharkhand Cybercrime Prevention Scheme
Launched ByJharkhand Government
BeneficiariesJharkhand People
Official Websitehttps://www.jhpolice.gov.in/
CYBER CRIME INVESTIGATIONCheck Here
Contact for Cyber CrimeClick Here

Nसाइबर क्राइम प्रिवेंशन फॉर वूमेन एंड चिल्ड्रेन के 5 कंपोनेंट । 5 components of cybercrime prevention for women and children

  • ऑनलाइन साइबर क्राइम
  • फॉरेंसिक यूनिट
  • क्षमता निर्माण इकाई
  • अनुसंधान एवं विकास इकाई
  • रिपोर्टिंग यूनिट
  • जागरूकता निर्माण इकाई

ऑनलाइन साइबर क्राइम यूनिट

ऑनलाइन साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल CCTNS परियोजना का एक केंद्रीय नागरिक पोर्टल है। इस पोर्टल के माध्यम से साइबर क्राइम की शिकायत की जा सकती है। यह इकाई ऑनलाइन साइबर क्राइम रिपोर्टिंग प्लेटफार्म के विकास के लिए भी जिम्मेदार होगी। ऐसे सभी अपराधों के लिए केंद्रीय भंडार प्रदान करेगा जिसका उपयोग साइबर अपराधों उनके रुझानों और उपचारात्मक पायो आदि के बारे में एक विश्लेषणात्मक रिपोर्ट प्रकाशित करने के लिए किया जाएगा।

यह भी पढ़िए: Kharkhand Berojgaari Bhatta

फॉरेंसिक यूनिट

एक राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला का संचालन किया जाएगा। जो हफ्ते के 24 घंटे और साल के 365 दिन काम करेगी। इस यूनिट में सभी लेटेस्ट फॉरेंसिक उपकरण का सेटअप होगा। जिसका उपयोग जरूरत पड़ने पर सभी केंद्रीय, राज्य, केंद्र शासित प्रदेशों के साथ-साथ केंद्रीय तथा राज्य फॉरेंसिक प्रयोगशाला कर सकेंगी। इस इकाई में देशभर के साइबर सिक्योरिटी विशेषज्ञ काम करेंगे और साइबर क्राइम लॉ को ठीक तरीके से संचालित करने में सहायता करेंगे।

अनुसंधान एवं विकास इकाई

साइबर क्राइम के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए इस क्षेत्र में शोध करने की आवश्यकता है। शोध करने के लिए सरकार द्वारा अनुसंधान एवं विकास इकाई आरंभ की गई है। इस इकाई के माध्यम से साइबर क्राइम के क्षेत्र में शोध करके साइबर क्राइम एक्ट में अमेंडमेंट किए जाएंगे। जिससे कि साइबर क्राइम को रोका जा सके।

जागरूकता निर्माण इकाई

जागरूकता निर्माण इकाई के माध्यम से लोगों के प्रति साइबर क्राइम को लेकर जागरूकता फैलाई जाएगी। जिससे कि इसे जल्द से जल्द रोका जा सके। जब लोग साइबर क्राइम के बारे में जागरूक होंगे तो वह इससे बचने के प्रयास कर सकेंगे। स्कूलों के माध्यम से भी यह जागरूकता फैलाई जाएगी। स्कूलों में छात्रों को साइबर क्राइम से संबंधित जानकारी प्रदान की जाएगी जिससे कि बच्चे साइबरक्रिमे से बच सके। वेब पोर्टल और मोबाइल ऐप के माध्यम से भी जागरूकता फैलाई जाएगी।

Jharkhand Cyber Crime

Jharkhand Cyber Crime Prevention Yojana 2021 के लाभ तथा विशेषताएं । Benefits and features of Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Yojana 2021

  • Jharkhand Cyber Crime Prevention Yojana 2021 का आरंभ झारखंड सरकार द्वारा 17 दिसंबर 2020 को किया गया था।
  • इस योजना के माध्यम से महिलाओं तथा बच्चों को साइबर क्राइम से बचाने का प्रयास किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत राज्य के छात्रों और महिलाओं को साइबर अपराध से बचने के लिए ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी।
  • इससे राज्य के स्कूलों और कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्रों को सुरक्षा का ज्ञान प्राप्त होगा।
  • राज्य के छात्राओं और महिलाओं को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत 6 घटकों को शामिल किया गया है जो है ऑनलाइन साइबर क्राईम रिर्पोटिंग यूनिट फॉरेंसिक यूनिट क्षमता निर्माण इकाई अनुसंधान एवं विकास इकाई जागरूकता निर्माण इकाई

झारखंड साइबर क्राईम प्रिवेंशन योजना की पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज । Eligibility and important documents of Jharkhand Cyber ​​Crime Prevention Scheme

  • आवेदक झारखंड का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

झारखंड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया Procedure to apply in Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme

जो भी व्यक्ति झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते है उन्हें थोड़ा इंतज़ार करना होगा क्योकि क्योकि अभी इस योजना की प्रक्रिया को आरंभ नहीं किया गया है जैसे की सरकार द्वारा आवेदन की प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा। वैसे ही हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से प्रक्रिया की महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे।

Contact Details

Address:
Cyber Crime Police Station
Kutchery Chowk, Ranchi, Jharkhand
Phone : 0651-2220060,Mobile : 9771432133
e-mail: cyberps@jhpolice.gov.in