Haryana Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: फसल बिमा योजना का लाभ लेने के लिए 31 जुलाई 2021 तक आवेदन दे सकते हैं।

Haryana Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana | haryana fasal bima yojana | pradhan mantri fasal bima yojana online registration 2021 | फसल बीमा योजना हरियाणा 2021 | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्लेम | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्लेम Haryana

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको हरियाणा में प्रधान मंत्री किसान फसल योजना के बारे में बताने जा रहे है। हरियाणा में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना किसानों के लिए वरदान साबित हो रही है हरियाणा में पिछले 4 वर्ष में 13 लाख 27 हजार 245 किसानों को 2980 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान क्लेम के रूप में दिया गया है। और इसमें खास बात यह है कि यह राशि बीमा कंपनियों की ओर से लिए जाने वाले प्रीमियम से भी अधिक है | है न आपके लिए अच्छी खबर।

Haryana Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

उल्लेखनीय इस योजना के अंतर्गत हरियाणा में हर साल औसतन 13 से 14 लाख किसानों को कवर कर कर करीब 20 लाख हेक्टेयर एरिया कवर किया जाता है। जिसके तहत नरमा, धान, गेहूं जैसी फसलों का बीमा किया जाता है और किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा आने या मौसम के मिजाज के कारण फसल खराब होने पर उसका आकलन पर किसानों को इस कंपनियों को बीमा क्लेम दिया जाता है। विशेष बात यह भी है कि योजना में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए पैसा सीधा किसानों के खाते में डाला जाता है।

Latest Updates

हरियाणा के सभी किसान भाई प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना का लाभ लेने के लिए 31 जुलाई 2021 तक आवेदन दे सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए विभाग द्वारा जारी टोल फ्री नंबर-18001802117 पर अथवा अपनी बैंक शाखा या बीमा कंपनी से संपर्क कर सकते हैं।

स्वयं मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी किसानों और खेती से जुड़े मुद्दों को लेकर संजीदा रहते हैं और वे लगातार किसानों की समस्याओं पर फोकस करते रहते हैं। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत साल 2016 -17 में हरियाणा के 220000 किसानों को 296 करोड रुपए का क्लेम दिया गया जबकि साल 2017 में कुल 1300000 किसानों को योजना के तहत कवर किया गया और करीब 324000 किसानों को 895 करोड रुपए की राशि के रूप में दी गई इसी प्रकार 2019 में 1400000 किसानों को योजना में शामिल करते हुए करीब 20 लाख हेक्टेयर रकबा कवर किया गया और 941 करोड रुपए की राशि क्लेम के रूप में दी गई है। इसी प्रकार साल 2019 -20 में करीब 800 करोड रुपए का क्लेम किसानों को दिया गया

Haryana Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

यह है हरियाणा में खेती का गणित | Haryana fasal bima yojana

हरियाणा में खेती अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं हरियाणा में करीब 17 लाख 64 हजार किसान परिवार है कुल 37 लाख हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि है। रबी सीजन में करीब 25 लाख हेक्टेयर में गेहूं 630 लाख हेक्टेयर में सरसों व अन्य रकबे पर जौ, बाजरा, चने व सब्जियों की खेती होती है। इसी प्रकार से खरीफ सीजन में करीब 12.30 लाख हेक्टेयर में धान, 7 लाख हेक्टेयर में नरमा, 5 लाख हेक्टेयर में ग्वार की फसल बोई जाती है।

मौसम का मिजाज पहुंचाता है नुकसान

हरियाणा में मौसम के मिजाज से खेती को कई बार नुकसान पहुंचता है। तो अनेक बार फसलों पर आने वाली बीमारियां भी किसानों के लिए संकट बन जाती है। नरमे की फसल को कई बार सफेद मक्खी और टिड्डी दल से नुकसान पहुंचा है तो कई बार अधिक बरसात और ओलावृष्टि के कारण भी फसलें खराब हुई है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से पहले किसानों को उनके नुकसान की भरपाई करने की कोई ठोस योजना नहीं थी।

किसान सम्मान निधि के 2212 करोड रुपए मिले

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत केंद्र सरकार की ओर से प्रदेश सरकार को 2212 करोड रुपए की राशि जारी की गई थी। इस राशि को हरियाणा के 18 पॉइंट 900000 किसानों को हस्तांतरित किया गया है इस योजना के तहत प्रति किसानों को वार्षिक ₹6000 की राशि दी जाती हैं

Haryana Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

योजना की आय सार्थक परिणाम

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना है कि प्रधानमंत्री फसल योजना हरियाणा के किसानों के लिए वरदान साबित हुई है। यह योजना किसानों का जोखिम कम करने के लिए शुरू की गई है और इसके सार्थक परिणाम भी सामने आई है उन्होंने बताया कि पिछले 4 वर्ष में इस योजना के तहत 13 लाख 27 हजार किसानों को 2980 करोड रुपए की राशि क्लेम के रूप में दी गई है।

Pradhan Mantri fasal bima yojana online registration 2021

अगर आपने अभी तक इस योजना का लाभ नहीं लिया है तो लाभ ले। पूरी जानकारी पाने के लिए हमारे बताये गए प्रोसेस को फॉलो करे और योजना का लाभ उठाये।

Haryana Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

योजना का लाभ लेने के लिए इस लिंक (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) पर जाए।
धन्यवाद।