Gau Samvardhan yojana | बेरोजगार युवाओ को रोजगार

Gau Samvardhan yojana | Gau Samvardhan scheme | Gau Samvardhan yojana online portal | Gau Samvardhan yojana in hindi | Gau Samvardhan yojana

Gau Samvardhan yojana

नमस्कार , आज हम आपको केंद्र सरकार द्वारा दुग्ध उत्पादन को बढ़ने हेतु चलाई गयी योजना ‘ गौ-संवर्धन योजना के बारे में विस्तार से चर्चा करने जा रहे है। गौ-संवर्धन योजना के बारे में हम आपको इस आर्टिकल में बताएँगे की आखिर ये योजना है क्या ? इसके लाभ क्या है ? इसके चयन प्रक्रिया इत्यादि के बारे में। गौ-संवर्धन योजना के तहत गावो व् शहरी क्षेत्रों में रहने वाले सभी बेरोजगार युवाओ को रोजगार प्रदान किया जाये। इस योजना से जुडी सभी जानकारियों के लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पूरा पढ़े।

 About the Gau Samvardhan yojana

गौ-संवर्धन योजना के तहत गावो व् शहरी क्षेत्रों में रहने वाले सभी बेरोजगार युवाओ को रोजगार प्रदान किया जाये। इस योजना के तहत इच्छुक युवाओ को 10 लाख रूपये तक का लोन दिया जायेगा। ताकि वे स्वयं की गौशाला खोल सके और इसके साथ ही लोन पर दी जाने वाली राशि पर ब्याज भी नहीं लिया जायेगा। इस योजना के द्वारा सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के बेरोजगारों के लिए रोजगार का एक नया अवसर प्रदान किया है। इस योजना की सहायता से लोग आत्मनिर्भर बनेगे। इसके साथ ही बढ़ती जनसँख्या के साथ बढ़ती हुई दूध व् डेयरी उत्पादों की मांगी की पूर्ति की जा सकेगी।

आप सभी बता दे की आचार्य विद्यासागर गौ संवर्धन योजना आवेदक पशु चिकित्सा विभाग की मंजरी पर इस योजना का लाभ ले पाएंगे। यदि आपको चिकित्सा विभाग से स्वीकृति मिल जाती है तो आप लोन बैंक के हिताधिकारियों से प्राप्त कर सकते हो। आपको बता दे की इस योजना द्वारा दिए जाने वाले लोन पर आपको किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं देना होगा। आपके लोन का ब्याज संबंधित विभाग द्वारा भुगतान किया जायेगा। 

Aim of Gau Samvardhan yojana

गौ-संवर्धन योजना की शुरुआत वर्ष 2018 में की गयी थी। इस योजना के तहत इच्छुक युवाओ को 10 लाख रूपये तक का लोन दिया जायेगा। ताकि वे स्वयं की गौशाला खोल सके और इसके साथ ही लोन पर दी जाने वाली राशि पर ब्याज भी नहीं लिया जायेगा। इस योजना का लाभ के लिए आपके पास कम से कम एक एकड़ जमीन होना अनिवार्य है। इसके साथ इसके द्वारा बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा और बढ़ती जनसँख्या के साथ बढ़ती हुई दूध व् डेयरी उत्पादों की मांगी की पूर्ति भी समय पर पूरी की जा सकेगी।

Qualification for Gau Samvardhan yojana / गौ-संवर्धन योजना हेतु पात्रता

इस योजना के लिए आवेदन हेतु आवेदक किसी भी जाति या समुदाय से होने पर आवेदन कर सकता है।
आवेदक के पास पांच पशु होने पर उनके लिए एक एकड़ जमीन होना अनिवार्य है।
इसके साथ ही पशुओ की संख्या बढ़ने पर जमीन भी अनुपातिक रूप से बढ़ानी होगी। इसके लिए न्यूनतम भूमि का निर्धारण भी किया जायेगा।
इसके साथ ही मिल्क रूट के क्रियान्वयन को प्राथमिकता दी जाना अनिवार्य है।

Gau Samvardhan yojana

Gau Samvardhan yojana / गौ-संवर्धन योजना हेतु लागत

यदि पशुपालक न्यूनतम 5 पशुओ की स्वीकृति इस योजना के लिए करवा सकेगा तो उन्हें इस योजना की सीमा धनराशि के रूप में 10 लाख रूपये तक का लोन प्रदान किया जायेगा।
लगभग 75 प्रतिशत तक की लागत राशि बैंक लोन के माध्यम से प्राप्त करेगा और बाकि बचे 25 प्रतिशत मार्जिन मणि सहायता समूह और स्वयं पशुपालक द्वारा की जाएगी।
इस योजना की इकाई लागत के 75 प्रतिशत पर या बैंक द्वारा प्राप्त लोन दोनों में से कम राशि पर 5 प्रतिशत सालाना ब्याज की दर से 25000 रूपये प्रतिवर्ष ब्याज विभाग द्वारा लगातार 7 वर्षो तक जमा करवाया जायेगा। परन्तु 5 प्रतिशत से ज्यादा ब्याज दर होने की स्थिति में आवेदक को स्वयं ब्याज भरना पड़ेगा।

Selection process of Gau Samvardhan yojana / गौ-संवर्धन योजना हेतु चयन प्रक्रिया

इस योजना हेतु चयनित होने हेतु पशुपालक का ग्राम सभा में अनुमोदन होना अनिवार्य है
इसके बाद ग्राम सभी में चयनित आने के पश्चात् जनपद पंचायत में अनुमोदन।
इसके उपरांत ही आवेदक का उप संचालक पशुपालन विभाग अनुमोदित प्रक्रिया को मंजूरी प्राप्त करना के लिए बैंक को संतुष्ट करके मंजूरी दी जाति है।

For More Info Click Here