केंद्रीय क्षेत्र की योजना “10,000 किसानों के संगठन (FPO Scheme) के 10,000 नए फार्मर फॉर्मेशन और प्रमोशन”, FPO के माध्यम से एक सतत उद्यम में 6865 करोड़

Contents

FPO Scheme | Anekta Me Ekta or Ekta Me Shakti | अनेकता में एकता और एकता में शक्ति 

नमस्कार दोस्तों सरकार किसानो को बेहतर गुणवत्ता वाली वस्तु का उत्पादन करने के लिए बेहतर प्रोद्योगिकी ,बेहतर इनपुट और अधिक तक पहुंचने के साथ सुविधा प्रधान करने का प्रयास कर रही है। कृषि क्षेत्र, आर्थिक विकास और राष्ट्र निर्माण दोनों के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसको देकते हुवे सरकार ने यह निर्णय लिया है।

देश में 86 % से अधिक किसान छोटे और सीमांत है। जैसे की इसके लिए FPO में छोटे ,सीमांत और भूमिहीन उनकी आय बढ़ाने के लिए किसानो की आर्थिक ताकत और बाजार संबंधो की और को बढ़ाने में मदद मिल सकेगी। इसी बात को ध्यान रखते हुए भारत सरकार के द्वारा यह फैसला लिया गया है कि 10 हज़ार किसान उत्पादन संगठनों FPO के गठन और साथ ही साथ 10 को बढ़ावा देने के लिए एक नई केंद्रीय योजना शुरू कि गई है। आईएएस क्लस्टर आधिरित व्यापार संगठनों के प्रति FPO को 5 वर्ष कि अवधि के लिए समेकित और पेशेवर हैंडहोल्डिंग की साहयता प्रदान करेगी। SBBO FPO पदोन्नति से संबंधित सभी मुद्दों के लिए ज्ञान को समाप्त करने के लिए एक मंच होगा।

FPO Scheme

जिसमें विशेष FPO उत्पादन क्लस्टर जैसे कि कार्बनिक के लिए 100 FPO, तेल बीज के लिए 100 FPO आदि शामिल हैं, इनमें से 369 FPO निर्माण के लिए लक्षित हैं। देश में 115 आकांक्षात्मक जिलों के लिए वर्तमान वर्ष के लिए गठन है। 2200 FPO उत्पादन समूहों को FPO के गठन के लिए आवंटित किया गया है,जैसे की आपको बता दे की NAFED अन्य एजेंसियों द्वारा गठित FPO को बाजार और मूल्य श्रृंखला लिंकेज प्रदान किया जायेगा ।

NAFED ने उत्तर प्रदेश ,मध्य प्रदेश ,राजस्थान ,बिहार और पश्चिम बंगाल में चालू वर्ष के दौरान 5 हनी FPO का गठन और पंजीकरण भी किया गया है। संभावित उत्पादन क्लस्टर और विकास राष्ट्रीय स्तर पर, राष्ट्रीय परियोजना प्रबंधन एजेंसी (NPMA) एक पेशेवर संगठन के रूप में समग्र परियोजना मार्गदर्शन, और निगरानी उद्देश्य प्रदान करने के लिए लगी हुई है। FPO को 3 वर्ष की वधि के लिए प्रति FPO 18.00 लाख रुपये तक की सहायता प्रदान की जायेगी। 18 लाख रुपये की सीमा के साथ FPO के प्रति किसान सदस्य 2,000। 15 लाख प्रति FPO और क्रेडिट गारंटी की सुविधा प्रधान की जाएगी।

यह भी देखे –>> Hamara Ghar Hamara Vishyalaya 

इस योजना में अच्छी तरह से परिभाषित प्रशिक्षण संरचनाएं हैं और सहकारी अनुसंधान एवं विकास (LINAC) के लिए बैंकर्स इंस्टीट्यूट ऑफ रूरल डेवलपमेंट (BIRD), लखनऊ और लक्ष्मण राव इनामदार नेशनल एकेडमी जैसे बहुत संस्थान है।

इस तरह के गठन और संवर्धन कृषि को आत्मानिर्भर कृषि में बदलने के लिए पहला कदम है। इससे FPO के सदस्य को लागत प्रभावी उत्पादन और उत्पादकता और साथ ही ग्रामीण अर्थव्यवस्था में सुधार और गांवों में ही ग्रामीण युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करेगा । यह किसानों की आय में काफी सुधार करने की दिशा में यह एक बड़ा कदम है।

FULL FORMS

  • SFAC –  Small Farmers Agri-Business Consortium
  • NCDC – National Cooperative Development Corporation
  • NABARD –   National Bank for Agriculture and Rural Development
  • NERAMAC –  North Eastern Regional Agricultural Marketing Corporation Limited
  • TN-SFAC –  Tamil Nadu-Small Farmers Agri-Business Consortium
  • SFACH –  Small Farmers Agri-Business Consortium Haryana
  • WDD –   Watershed Development Department
  • FDRVC –   Foundation for Development of Rural Value Chains
  • CBBO –  Cluster-Based Business Organizations

For More Visit–>> Click Here

आशा है कि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा आप अपने मित्रो और परिवारों को शेयर करे धन्यवाद