Drip Irrigation System, Bihar Irrigation Scheme, 2022 (Subsidy on Drip irrigation)

Drip Irrigation System, Drip Irrigation, Bihar Drip Irrigation Scheme, Subsidy on drip irrigation, system cost, drip irrigation in Hindi

Drip Irrigation System, Bihar Irrigation Scheme:-प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना देश के सभी राज्यों में लागू है। इस योजना के तहत अलग -अलग प्रदेश में सरकार अलग -अलग सब्सिडी दे रही है। इसका मुख्य कारण यह है कि इस योजना पर राज्य सरकार भी अलग – अलग सब्सिडी देती है। इसी कर्म में बिहार राज्य सरकार प्रदेश के किसानो को प्रधानमंत्री कृषि सिचाई के लिए आवेदन माँगा गया है। जैसे कि आप लोग जानते है कि अनाज के लिए कृषि सबसे जरूरी है और कृषि तभी अच्छी होगी जब सिचाई अच्छे से की जाएगी। खेतो में सिचाई के लिए पानी की बहुत आवश्यकता होती है। अगर फसलों को अच्छे से पानी नहीं मिलेगा तो वह किसानो की फसल  खराब हो जाएगी।

Drip Irrigation System

अब इस योजना के माध्यम  से पानी की  समस्या को दूर किया जायेगा और किसानो को उनकी खेती के लिए पानी की व्यवस्था की जाएगी। इस योजना के तहत सेल्फ हेल्प ग्रुप ,ट्रस्ट ,सहकारी समिति , इंकॉर्पोरेटेड कंपनियां, उत्पादक कृषकों के समूहों के सदस्यो और अन्य पात्रता प्राप्त संस्थानों के सदस्यों को भी लाभ प्रदान किया जायेगा। पानी की समुचित व्यवस्था करने के लिए और अलग -अलग खेती करने के लिए भारत सरकार द्वारा वर्ष 2016 – 17 प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना की शुरुआत की गई थी। इस योजना की पूरी जानकारी हम लेकर आए है। 

लाभार्थी का चयन कैसे होगा 

  • प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना के माध्यम से लाभार्थी का चयन पहले आओ पहले पाओ के आधार पर साफ्टवेयर के माध्यम से आवेदन जम्मा करने के उपरांत स्वत: होगा।
  • प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना के अंतर्गत लघु और सीमांत कृषको हेतु 90 % राशि और अन्य किसान हेतु 10 % राशि का प्रावधान कार्य कार्य आरक्षित है।
  • इसके अतिरिक्त कुल योजना राशि का 16 प्रतिशत अनुसूचित जाति पर तथा 1 प्रतिशत अनुसूचित जनजाति पर व्यय किया जायेगा
CLICK THIS ALSO
Begum Hazrat Mahal Scholarship
किसान सूर्योदय योजना
Up Police Salary Slip- Employee SI/ASI Constable
BH Series Number Plates-Registration
Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana

सिंचाई यंत्रों के अनुदान में बढ़ोतरी

प्रस्तावित योजना के अंतर्गत ड्रिप सिचाई पद्धति हेतु पछले वर्ष दिए जाने वाले 75 प्रतिशत अनुदान से बढ़ाकर 90 प्रतिशत अनुदान का किया गया है। स्प्रिंकलर सिंचाई पद्धति अंतर्गत अनुदान में कोई बदलाव का प्रस्ताव नहीं है |

ड्रिप सिंचाई पद्धति गन्ना, सब्जी, फल, एवं फूल की खेती हेतु एक वरदान है। इस पद्धति के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा निर्धारित सूचक दर पर 12 प्रतिशत GST किसानो को देना होता है। GST पर कोई अनुदान भुगतान नहीं है। गन्ना, सब्जी एवं फूल हेतु भारत सरकार द्वारा सूचक दर 129073.00 रूपये / हे. निर्धारित है इस पर 90 प्रतिशत अनुदान उपलब्ध कराने पर भी किसान को 15489.00 रूपये GST एवं 12907.00 रूपये सूचक दर का अंश यानि कुल 28396.00 रूपये भुगतान किसान अंश के रूप में किया जाएगा।

इसके साथ -साथ सैंड फिल्टर एवं हाईड्रोसाईक्लोन फिल्टर हेतु किसान को 3080.00 रूपये अलग से भुगतान करना होगा। प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना का नियम है यदि किसान द्वारा लागत राशि अधिक रहने के कारण इस पद्धति का इंस्टालेशन यही कराया जाता था।

ड्रिप स्प्रिंकलर अनुदान पर लेने हेतु नियम एवं शर्तें 

  • किसान के पास अपनी भूमि और 7 वर्षो का लीज का भूमि होना अनिवार्य है।
  • अपनी भूमि की स्थति में LPG होना आवश्यक है।
  • अगर लीज का भूमि है तो 7 वर्षों का निबंधित लीज / 1000.00 रूपये का स्टाम्प पेपर पर लिजदाता एवं लीज लेने वाले का प्रथम श्रेणी के दंडाधिकारी के समक्ष शपथ पत्र लिया गया।
  • ड्रिप सिंचाई हेतु कम से कम 0.5 एकड़ तथा अधिक से अधिक 12.5 एकड़ रकबा तथा स्प्रिंकलर सिंचाई हेतु कम से कम 1 एकड़ अधिकतम 5 एकड़ रकवा तक लाभ लिया जा सकता है |
  • इस योजना का लाभ जो किसान पुर्व में ले चुके है उन्हें 7 वर्षों के बाद ही पुन: योजना का लाभ देय होगा |
  • किसान का निबंधन DBT PORTAL पर आवश्यक है |
  • छोटे किसान योजना का लाभ समुह में ले सकते हैं |
  • योजना का लाभ व्यक्तिगत रूप से लेने हेतु जल श्रोत आवश्यक है |
  • यदि किसान स्वयं अनुदान का लाभ अपने बैंक खाते में लेना चाहते हैं तो उनका बैंक खाता आधार लिंक होना आवश्यक है |
  • आवेदन पहले आओ पहले पाओ के आधार पर ऑनलाइन स्वीकृत किया जायेगा |

Drip Irrigation System cost

प्रति एकड़ ड्रिप सिंचाई प्रणाली की लागत 50,000-65,000 रुपये प्रति एकड़ के लगभग के आसपास आती है। और फलों की फसल के लिए, अगर ड्रिप सिंचाई प्रणाली के लिए प्रति एकड़ 3X3 पैटर्न लागत में लगायी जाये तो लगभग 35,000- 40,000 रुपये के आसपास चर्चा आता है।

ड्रिप एवं स्प्रिंकलर आवेदन कैसे करें ?

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना पूरी तरह से आनलाईन है। अगर आपको इस योजना का लाभ लेना है तो आपको सबसे पहले इसके लिए अपने आधार कार्ड से Bihar Agriculture DBT की ऑफिसियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। दबत की वेबसइट पर पंजीयन कराने पर 13 नंबर का एक पंजीयन संख्या आपको दिया जायेगा। फिर उस संख्या से इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। एक बार DBT में पंजीयन करने पर किसान को आगे के सभी योजना के लिए आवेदन करने की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।

Drip Irrigation System

Drip Irrigation System Drip Irrigation System
Drip Irrigation System

ड्रिप इरीगेशन से आप कोन कोन सी फसल ले सकते है
फसल का प्रकारकाटना
सब्जियांटमाटर , शिमला मिर्च , पत्तागोभी, मिर्च,
फूलगोभी , प्याज, बैंगन, करेला,
रिज लौकी, मटर, ककड़ी, कद्दू,
पालक आदि।
नकदी फसलेंगन्ना, तंबाकू, कपास
Polly House की फसलगेरबेरा , डच गुलाब , कार्नेशन , एन्थ्यूरियम ,
लिली, ऑर्किड, स्ट्राबेरी , आदि
वृक्षारोपण फसलकॉफी, नारियल, चाय, रबड़, आदि
बागों की फसलकेला, अंगूर, खट्टे, नारंगी,
अनार , आम, अमरूद,
अनानास, काजू, नारियल,
पपीता, तरबूज, कस्तूरी,
लीची, नींबू, आदि।

यह सब कुछ आज आपने इस लेख के जरिये जाना है। उम्मीद है यह लेख आपके लिए लाभदायक रहा होगा। अगर आपको इस लेख में कुछ समझ नहीं आया हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है। हमारे इस लेख को अपने दोस्तों,रिश्तेदारों,इत्यादि तक शेयर करना न भूले। मैं KAVITA KHANWANI   आपका तहे दिल से शुक्रिया करती हूँ| कि आपने हमारे लेख को पूरा पढ़ा । और आपने अपना कीमती समय इसे पढ़ने में लगाया। एक बार फिर से दिल से धन्यावद !

ड्रिप इरीगेशन सिस्टम क्या है?

इस योजना के तहत अलग -अलग प्रदेश में सरकार अलग -अलग सब्सिडी दे रही है। इसका मुख्य कारण यह है कि इस योजना पर राज्य सरकार भी अलग – अलग सब्सिडी देती है। इसी कर्म में बिहार राज्य सरकार प्रदेश के किसानो को प्रधानमंत्री कृषि सिचाई के लिए आवेदन माँगा गया है।

लाभार्थी का चयन कैसे होगा ?

प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना के माध्यम से लाभार्थी का चयन पहले आओ पहले पाओ के आधार पर साफ्टवेयर के माध्यम से आवेदन जम्मा करने के उपरांत स्वत: होगा।
प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना के अंतर्गत लघु और सीमांत कृषको हेतु 90 % राशि और अन्य किसान हेतु 10 % राशि का प्रावधान कार्य कार्य आरक्षित है।
इसके अतिरिक्त कुल योजना राशि का 16 प्रतिशत अनुसूचित जाति पर तथा 1 प्रतिशत अनुसूचित जनजाति पर व्यय किया जायेगा

ड्रिप एवं स्प्रिंकलर आवेदन कैसे करें ?

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना पूरी तरह से आनलाईन है। अगर आपको इस योजना का लाभ लेना है तो आपको सबसे पहले इसके लिए अपने आधार कार्ड से Bihar Agriculture DBT की ऑफिसियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। दबत की वेबसइट पर पंजीयन कराने पर 13 नंबर का एक पंजीयन संख्या आपको दिया जायेगा। फिर उस संख्या से इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। एक बार DBT में पंजीयन करने पर किसान को आगे के सभी योजना के लिए आवेदन करने की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।