एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना 2021

एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना | एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना | आदर्श कृषि ग्राम योजना | एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना

एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना 2021

नमस्कार, आज हम आपको देहरादून में सर्कार द्वारा चलाई गयी योजना ‘एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना ‘ के बारे में विस्तार से सभी आवशयक जानकारिया साझा करेंगे। एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना ‘ के द्वारा सरकार देश के किसानो के लिए नए अवसर ला रही है जिसके बारे में हम आपको हमारे इस आर्टिकल में समझायेंगे। इस योजना से सम्बंधित सभी जानकारिया जैसे ये स्किम है क्या ? इसके क्या लाभ है ? कौन कौन इसके लाभ ले सकता है ?इत्यादि के बारे में हम बताएँगे। तो आइये आज के आर्टिकल की शुरुआत करते है।

एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना

एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना /आदर्श कृषि ग्राम योजना

एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना ‘ की शुरुआत प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने की। इस योजना की शुरुआत उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने अपने विधानसभा क्षेत्र डोईवाला के माजरी ग्रांट में 21 अक्टूबर 2020 की गयी थी। एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना की शुरुआत करने का मुख्य उदेश्ये प्रदेश में कृषि को बढ़ावा देना है। आप सभी इस बात से भलीभांति अवगत है की बीते दिनों में कोरोना जैसे संक्रमण की वजह से पुरे विश्व में केवल एक ही क्षेत्र था जिसमे वृद्धि हुई थी वो कृषि में।

कृषि के क्षेत्र में लोगो की रूचि को देखते हुए प्रदेश सर्कार ने इस योजना के लिए एक नया कांसेप्ट तैयार किया है। जिसके तहत प्रदेश सर्कार ने किसानों की आमदनी को दुगना करने के लिए वैल्यू एडीशन एवं ब्रांड की जरूरत को महसूस किया है. राज्य में प्रदेश सरकार ने इस बात की पुष्टि की है, की इस योजना के लिए एक अम्ब्रेला ब्राण्ड भी जल्द ही शुरू किया जाएगा।

एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना ‘ के लाभ

एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना के तहत किसानो को बहुत से लाभ प्रदान करवाए जायेंगे जिन्हे नीचे दर्शाया गया है :
इस योजना के द्वारा उत्तराखंड के सभी किसानो को पर्वतीय क्षेत्रों में अपने खेतो में सिचाई के साथ ही मशीनीकरण पर ध्यान करने की जोर दिया जायेगा।
एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना के तहत प्रदेश में जैवक खेती करने के लिए भी किसानो को प्रेरित किया जायेगा।
प्रदेश में किसानो की आमदनी को दुगना करने के लिए ब्रांड एवं वैल्यू एडीशन पर बल दिया जायेगा। इसके पश्चात राज्य में अम्ब्रेला नाम का एक ब्राण्ड जल्द ही शुरू किया जायेगा।

Helpful for You–>> Dairy entrepreneurship development scheme in Hindi 2021

‘एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना ‘ पर मुख्य मानती ने कहा

मुख्यमंत्री ने कृषि मंत्री सुबोध उनियाल को शुभकामनाये देते हुए कहा कि कृषि मंत्री के पद पर कार्य करते हुए श्री सुबोध उनियाल ने हर बार कृषि के क्षेत्र में नए-नए कॉन्सेप्ट लाकर उनपर काम किया है। इसके अतिरिक्त उन्होंने बताया की एकीकृत आदर्श ग्राम योजना का ये कॉन्सेप्ट जो है, वे कृषि के क्षेत्र में मील का पत्थरकी तरह साबित होगा। इसके साथ ही उन्होंने बताया की उत्तराखण्ड जैसे पर्वतीय क्षेत्र में सिंचाई केलिए मशीनीकरण पर फ़ोकस करने के साथ ही जैविक खेती को भी बढ़ावा दिया जायेगा। .इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश में कृषको की आय दोगुनी करने के लिए एक अम्ब्रेला ब्राण्ड जल्द ही शुरू करने का वयदा किया है। .

एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना ‘ पर कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा

कोरोना वैश्विक महामारी के इस कठिन समय में जहां सभी प्रकार क्षेत्रों में गिरावट आई है, वही कृषि के इस क्षेत्र में सराहनीय विकास कार्य हुआ है। उन्होंने उनियाल ने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा कि केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार कृषि के क्षेत्र में विकास लाने के लिए निरंतर प्रयासरत है। इसके साथ इस अवसर पर प्रदेश को खेती के क्षेत्र में प्रगति करने हेतु ‘कृषि कर्मण पुरस्कार’ द्वारा सम्मानित भी किया गया है। इसके साथ कृषि मंत्री ने नाबार्ड के अध्यक्ष डॉक्टर चिंतला से अनुरोध किया है की उत्तराखण्ड राज्य में मैकेनाइजेशन को बढ़ावा दिया जाये।